कानपुर : जगन्नाथ मंदिर का भीगा पत्थर, बूंदों की तेज गति अच्छी बारिश का दे रहीं संकेत

0
1786

कानपुर । मानसून को लेकर मौसम वैज्ञानिक तकनीक के आधार पर भविष्यवाणी तो कर ही रहे हैं, लेकिन कानपुर का जगन्नाथ मंदिर हमेशा से पूर्वानुमान बता रहा है। हर वर्ष मंदिर का पूर्वानुमान मानसून को लेकर सही निकलता है। इस बार भी जून माह में मंदिर का पत्थर भीग गया जिससे पूरी तरह से आसार बन गये हैं कि अबकी बार अच्छी मानसूनी बारिश होगी।

भीतरगांव ब्लॉक के बेहटा बुजुर्ग गांव में स्थित भगवान जगन्नाथ के मंदिर को मानसूनी मंदिर भी इसलिए कहा जाता है कि बारिश का संकेत देता है। हर वर्ष जून माह में मानसून आने से पहले मंदिर के गुंबद में लगे पत्थरों पर बूंदे आने लगती हैं। यह बूंदे जब पत्थरों को सही ढंग से गीला करने लगती हैं तो पूर्वानुमान हो जाता है कि मानसूनी बारिश अच्छी होगी। इस बार भी पत्थरों पर आ रही बूंदों की गति तेज है, जिससे संभावना है कि जल्द ही मानसून आएगा और तेज बारिश होगी।

10 से 15 दिन में आएगा मानसून

मंदिर के पुजारी कुड़हा प्रसाद शुक्ला ने बताया कि जून माह में मंदिरों पर लगे गुंबदों पर आने वाली पानी की बूंदों से मानसून का पूर्वानुमान लगाया जाता है। यह पूर्वानुमान सदियों से लगाया जा रहा है और हर वर्ष सही निकलता है। इस वर्ष पत्थर पूरी तरह भीगा हुआ है। बूंदों के गिरने की गति भी तेज है। इससे अनुमान है कि अच्छी बारिश होगी। 10 से 15 दिन में मानसून आ जाएगा। बताया कि मानसून से पहले यहां के पत्थरों पर जब पानी की बूंदों का आकार छोटा होता है और पत्थर को एक या दो कोना ही गीला होता है तो अच्छी बारिश का संकेत नहीं होता।