कश्मीर में जम गई डल झील, अगले दो दिनों में शीतलहर की चपेट में आएगा उत्तर भारत

0
17

जम्मू (ईएमएस)। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि 18 से 20 दिसंबर के बीच पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान और चंडीगढ़ में शीतलहर की स्थिति बनने की संभावना है। अगले तीन दिनों तक पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में हल्की से मध्यम बारिश या हिमपात की भी संभावना है। मौसम विभाग ने कहा, ऐसा इसलिए होगा क्योंकि एक पश्चिमी विक्षोभ एक चक्रवाती परिसंचरण के रूप में देखा जा रहा है जो जम्मू और पड़ोस के ऊपर बन रहा है। एक चक्रवाती परिसंचरण के रूप में एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और पड़ोसी क्षेत्रों में बना हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले तीन दिनों के दौरान जम्मू, कश्मीर-लद्दाख-गिलगित-बाल्टिस्तान-मुजफ्फराबाद और हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर और 16-17 दिसंबर को उत्तराखंड में हल्की से मध्यम वर्षा या बर्फबारी होने की संभावना है। 16 दिसंबर को पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के उत्तरी हिस्सों में अलग-अलग स्थानों पर भी हल्की बारिश की संभावना है।

राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने कहास “हम 16 और 17 दिसंबर को उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में हल्की और छिटपुट बारिश की उम्मीद कर रहे हैं। 17 दिसंबर के बाद तापमान में गिरावट की संभावना है। आज तक केवल पंजाब में घने कोहरे की उम्मीद है, लेकिन हम दिल्ली में भी कोहरे के विकास की निगरानी कर रहे हैं।” मैदानी इलाकों में जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे कम होता है और लगातार दो दिनों तक सामान्य से 4.5 डिग्री कम होता है तो शीतलहर आती है। आईएमडी के अनुसार, तमिलनाडु-पुडुचेरी-कराइकल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में अलग-अलग या छिटपुट स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। अगले पांच दिनों के दौरान केरल-माहे में अलग-अलग जगहों पर वर्षा होने की संभावना है।

इस अवधि के दौरान देश के शेष हिस्सों में शुष्क मौसम की संभावना है। उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में न्यूनतम तापमान में 2-3 डिग्री की गिरावट आने की संभावना है। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के कश्मीर घाटी में बुधवार को मौसम काफी ठंड भरा रहा, यहां तापमान शून्य से 3.9 डिग्री नीचे दर्ज किया गया। जिस वजह से वश्वि प्रसिद्ध डल झील के बीच का हिस्सा जम गया। घाटी में आसमान साफ रहने और रात के तापमान में गिरावट आने से छोटे जलाशयों और नालों सहित डल झील के बीच के हिस्से जम गए हैं। इस दौरान यहां पर नाविक अपने शिकारा नाव को आगे ले जाने के लिए बर्फ हटाते दिखे। यहां घूमने आये पर्यटक अपने हाथों में बर्फ लेकर आनंद लेते नजर आये। मौसम विभाग ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आने वाले दिनों में रात का तापमान दो से चार डिग्री से नीचे रह सकता है। फिलहाल, यहां का मौसम 23 दिसंबर तक शुष्क बना रहेगा। मौसम विभाग ने कहा कि कश्मीर घाटी और लद्दाख में क्रिसमस डे के दिन 60 प्रतिशत तक बर्फबारी होने की संभावना है।