ओमिक्रोन का कहर जारी, कई प्रदेशों में स्कूल-कॉलेज बंद

0
13

-महाराष्ट्र ने 15 फरवरी तक सारे कॉलेज और यूनिवर्सिटी की फिजिकिल क्लास पर लगाई रोक

नई दिल्ली (ईएमएस)। कोरोना के घातक वायरस डेल्टा के बाद अब ओमिक्रोन का कहर जारी है। कोविड महामारी के लिए जिम्मेदार सार्स-कोव2 वायरस के नए वेरियेंट ओमिक्रोन के प्रकोप के कारण हर दिन नए कोरोना केस में बड़ा इजाफा हो रहा है। ऐसे में दो साल से पढ़ाई-लिखाई को दोबारा पटरी पर लाने की संभावनाओं को ठेस लगी है। कोरोना की दूसरी लहर शांत होने के बाद पिछले कुछ महीनों में स्कूल-कॉलेज खुले थे, लेकिन फिर कोरोना वायरस का नया वेरियेंट का खतरा आ गया। इससे पहले, वायरस के डेल्टा वेरियेंट ने दूसरी लहर में खूब तबाही मचाई थी। अच्छी बात यह है कि अब 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष के बच्चों को भी कोविड वैक्सीन लगाई जा रही है। ऐसे में बड़े बच्चों के वायरस से सुरक्षित होने पर स्कूल खोलने का फैसला लिया जा सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, फरवरी के शुरुआती हफ्ते में ओमीक्रोन पीक पर रहेगा। ऐसे में संभव है कि दोबारा स्कूल खुलने का माहौल मार्च-अप्रैल से ही बन पाए। आइए जानते हैं, स्कूल-कॉलेज पर किस राज्य ने क्या फैसला किया है।

महाराष्ट्र सरकार ने 15 फरवरी तक सारे कॉलेज और यूनिवर्सिटी की फिजिकिल क्लास पर रोक लगा दी है। इस बीच सभी परीक्षाएं ऑनलाइन आयोजित की जाएंगी। नागपुर और पुणे में कक्षा 1 से 8 तक के स्कूल 31 जनवरी तक बंद रहेंगे। मुंबई में 9वीं क्लास तक के स्कूल इस महीने बंद रहेंगे। वहीं, 12वीं के बोर्ड एग्जाम 4 मार्च से जबकि 10वीं के 15 मार्च से शुरू होंगे। दिल्ली सरकार ने 28 दिसंबर को यलो अलर्ट जारी करते हुए क्लास से 1 से 5 तक के सभी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद रखने का निर्देश जारी किया था। हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने फिलहाल 12 जनवरी तक प्रदेश के सभी स्कूलों में सर्दियों की छुट्टी का ऐलान किया है। पश्चिम बंगाल में 3 जनवरी के बाद से स्कूल-कॉलेज समेत सभी शिक्षण संस्थान अगले आदेश तक बंद रखने का निर्देश है। इनमें प्रशासनिक कार्यों के लिए आधे स्टाफ को आने की अनुमति है। ​राज्य सरकार ने राजधानी जयपुर में कक्षा 1 से 8 तक के सभई स्कूलों को बंद कर दिया है। प्रदेश के बाकी जिलों में कलेक्टर को अधिकार दिया है कि वो प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव से बातचीत करके फैसला लें।

​मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकंड्री एजुकेशन (एमपीबीएसई) ने 10वीं की परीक्षा 18 फरवरी जबकि 12वीं की परीक्षा 17 फरवरी से लेने का ऐलान किया है। पहले ये परीक्षाएं 12 फरवरी से लेना था। झारखंड में 15 जनवरी तक सारे शिक्षण संस्थान बंद हैं। स्कूल-कॉलेज में बच्चों को बुलाने की मनाही है। बिहार सरकार ने 8वीं क्लास तक के सभी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद रखने का ऐलान किया है। उत्तर प्रदेश में फिलहाल 15 जनवरी तक सभी स्कूल बंद रहेंगे। हालांकि, वहां कॉलेज अभी खुले हैं। कर्नाटक सरकार ने राजधानी बेंगलुरु में 1 से 9वीं क्लास तक के सभी स्कूलों को बंद कर दिया है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के। चंद्रशेखर राव ने 8 से 16 जनवरी तक प्रदेश के सभी स्कूल-कॉलेजों में संक्रांति अवकाश का आदेश दिया है। गोवा के स्कूल-कॉलेज 26 जनवरी तक बंद कर दिए गए हैं। वहीं, कक्षा 10 से 12वीं के बच्चों को सिर्फ टीका लगवाने के लिए स्कूल आने की अनुमति है। ओडिशा सरकार ने क्लास 1 से 5 तक के स्कूल खोलने का फैसला टाल दिया है। वहां क्लास 5 तक से सारे स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे। पंजाब सरकार ने 15 जनवरी तक सभी स्कलू-कॉलेज एवं अन्य शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का फैसला किया है।

वहीं केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) और भारतीय विद्यालय प्रमाण परीक्षा परिषद (सीआईएससीई) ने दूसरे टर्म की बोर्ड परीक्षाएं मार्च-अप्रैल में कराने का ऐलान किया है। इन परीक्षाओं के डेट शीट्स जल्द ही जारी होंगे। मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और बिहार आदि में बोर्ड एग्जाम की तारीखों का ऐलान हो चुका है। वहीं, सीबीएसई जनवरी के आखिर तक 10वीं और 12वीं क्लास के पहले टर्म के एग्जाम रिजल्ट जारी करेगा। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय खुला विश्वविद्यालय (इग्नू) ने टर्म एंड एग्जाम के लिए असाइनमेंट, प्रॉजेक्ट रिपोर्ट, फील्ड वर्क जनर्ल, डिसर्टेसन और इंटर्नशिप आदि जमा करने की मियाद बढ़ाकर 15 जनवरी कर दी है। दिसंबर टीईई के लिए एनरॉल हुए विद्यार्थी अपने असाइनमेंट 15 जनवरी तक ऑनलाइन या फिर अपने-अपने सेंटर पर जाकर जमा करवा सकते हैं।