Breaking News
Home / अपराध / एटीएम हैकर्स गिरोह के वांछित सरगना समेत तीन गिरफ्तार, इस तरह करते थे खेल

एटीएम हैकर्स गिरोह के वांछित सरगना समेत तीन गिरफ्तार, इस तरह करते थे खेल

120 एटीएम कार्ड सहित मोबाइल फोन व अन्य सामग्री की बरामद

हमीरपुर  (हि.स.)। पुलिस ने अंतरराज्यीय एटीएम हैकर्स गिरोह के वांछित सरगना समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों के पास से नकदी समेत 120 एटीएम कार्ड, स्वाइप मशीन व दो बाइकें बरामद की है। गिरोह के लोग अलग-अलग राज्यों में एटीएम ठगी की घटनाओं को अंजाम देकर अर्जित धन से महंगे शौक को पूरा करते थे। पकड़े गए तीनों आरोपी कुरारा थाना क्षेत्र के हैं।

पुलिस अधीक्षक डा.दीक्षा शर्मा ने शनिवार को बताया कि मुखबिर ने सूचना दी तो कुरारा थानाक्षेत्र के ग्राम सिकरोढी की तरफ से आ रहे दो बाइकों से शेखपुर नहर पुलिया के पास दबिश देकर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में राघवेन्द्र निषाद ग्राम गोकुल डेरा, अजय प्रताप व कौशल राज ग्राम परसी का डेरा के हैं। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने दो हजार रुपये नकदी,120 एटीएम कार्ड, एक स्वाइप मशीन, आधार कार्ड, दो मोबाइल फोन, दो बाइकें, पिनकोड नंबर व आईएफएफसी कोड नंबर लिखे सात पन्ने बरामद किए हैं।

बताया पूर्व में एटीएम मशीनों से छेड़छाड़ कर फ्रॉड करने वाले चार आरोपियों को एसओजी, सर्विलांस टीम व थाना कुरारा पुलिस पिछले 15 जून को गिरफ्तार कर चुकी है। इसमें गैंग सरगना राघवेंद्र निषाद व अन्य वांछितों की तलाश की जा रही थी।

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह उप्र, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, दिल्ली, असम, कर्नाटक, गोवा, बंगलूरु में जाकर घटनाओं को अंजाम देते हैं। एसपी ने बताया कि आरोपी राघवेंद्र निषाद के खिलाफ थाना कुरारा में धोखाधड़ी, जालसाजी व आईटी एक्ट सहित अन्य धाराओं में वांछित हैं। ये सभी आरोपी कई लोगों के एटीएम कार्ड को प्राप्त कर पहले उस खाते में रुपया जमा करते थे फिर उसी रुपये को एटीएम के जरिए निकालते थे।

इस दौरान जैसे ही ट्रांजेक्शन पूरा होने को होता है और रुपया बाहर निकलता है तो ये लोग उसके अंदर अंगुली डालकर नोट को निकाल लेते थे। कुछ सेकेंड बाद एटीएम मशीन ट्रांजेक्शन फेल्ड का मैसेज फारवर्ड करती है। ये लोग इसके बाद बैंक में कम्पलेन करके निकाला गया रुपया पुनः वापस मंगा लेते थे। बिना मेहनत किए कमाए गई रकम से महंगी गाड़ियों से घूमते ऐशोआराम करते थे।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...