उन्नाव : कोरोना काल में पैरोल पर छोड़े गए 15 कैदी फरार, पांच महीने बाद भी पुलिस अरेस्ट करने में असफल

0
864


Unnao News : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) में कोरोना काल (Covid 19) के दौरान उन्नाव जेल (Unnao Jail) से पैरोल पर छोड़े गए 44 में से 15 कैदी अभी तक वापस नहीं लौटे हैं। इनमें से दो बंदी ऐसे है, जिनका पता गलत दर्ज होने की वजह से उनकी सही लोकेशन नहीं मिल पा रही हैं। बता दें कि इसको लेकर जेल अधीक्षक कई बार एसपी को पत्र लिखकर फरार बंदियों को गिरफ्तार करने की मांग कर चुके हैं लेकिन 5 महीने बीतने बाद भी पुलिस फरार 15 बंदियों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। जिसको लेकर जेल अधीक्षक ने फिर से एसपी को पत्र लिखकर जेल न लौटने वाले बंदियों को गिरफ्तार करने के लिए कहा है।

अधिकारी बने हुए हैं अनजान 

कोरोना काल में जेल का बोझ कम करने के लिए 7 वर्ष या उससे कम सजा वाले 44 कैदियों को मई से अगस्त महीने के बीच तीन-तीन माह की कोविड पैरोल दी गई थी। जो फरवरी 2022 में समाप्त हो चुकी है लेकिन उसके बाद भी 15 बंदी अभी नहीं लौटे हैं। जिनमें से 8 बंदी जमानत मिलने से रिहा हो चुके है। अब जेल प्रशासन इन कैदियों को पकड़ने के लिए पुलिस को पत्राचार कर पकड़ने की मांग कर रहा है, लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। पुलिस इस मामले में कुछ बोलने से बच रही है। जबकि पुलिस की लापरवाही से 15 बंदी जेल से फरार चल रहे हैं और अधिकारी अनजान बने हुए हैं।

44 कैदियों में से 15 कैदी हैं फरार

जिला कारगर उन्नाव के कार्यवाहक जेल अधीक्षक राजीव कुमार सिंह का कहना है कि कोविड काल में जिला कारगर उन्नाव से 44 सिद्ध बंदियों को रिलीज किया गया था। 8 कैदी ऐसे हैं जो फाइनली रिलीज हो गए हैं, उनकी जमानत हो गयी है या फिर सजा पूरी हो गयी है। 15 बंदी शेष हैं जिनकी गिरफ्तारी बाकी है। संबंधित थाना अध्यक्ष को और एसपी को लेटर भेजे हैं। सात वर्ष के कम सजा वाले बंदियों को रिलीज किया गया था।

पैरोल पर छोड़े गए ये कैदी नहीं लौटे

वहीं जेल अधीक्षक राजीव सिंह ने बताया कि कैदी अजय उर्फ मेवालाल, धर्मपाल, जंगबहादुर , धनी, बाबू पंकज सिंह, नन्हक्के, श्रीनिवास, भुल्ली उर्फ प्रेमशंकर, शिवतरण, सूर्यपाल कैदी पैरोल पर छोड़ गए थे लेकिन वापस नहीं लौटे हैं।