इतिहास के पन्नों में : 14 मार्च

एक महान वैज्ञानिक के जन्म, दूसरे के निधन की तारीखः विज्ञान के नजरिये से 14 मार्च विशेष महत्व रखता है। इसी दिन दुनिया के एक महान वैज्ञानिक का जन्म हुआ तो लंबे कालखंड बाद इसी तारीख को एक महान वैज्ञानिक ने यह चेतावनी देते हुए दुनिया को अलविदा कहा कि आने वाले सौ साल के बाद पृथ्वी पर मानव जीवन की गुंजाइश कम है। दोनों ही वैज्ञानिकों की मेधा को निर्विवाद रूप से दुनिया भर में समान रूप से स्वीकार किया जाता है।

हम बात कर रहे हैं सापेक्षता का सिद्धांत और द्रव्यमान एवं उर्जा का संबंध बताने वाले ख्यातिलब्ध वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन की। उनका जन्म 14 मार्च 1879 को जर्मनी के वुटेमबर्ग के एक यहूदी परिवार में हुआ। आइंस्टीन को विशेष सापेक्षिकता और सामान्य आपेक्षिकता के सिद्धांत सहित कई अन्य महत्वपूर्ण योगदानों के लिए जाना जाता है। सैद्धांतिक भौतिकी, खासकर प्रकाश-विद्युत उत्सर्जन की खोज के लिए उन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। आइंस्टीन का नाम वैज्ञानिक बौद्धिकता का पर्याय माना जाता है।

अंतरिक्ष भौतिकी को नया स्वरूप देने वाले महान वैज्ञानिक स्टीफन विलियम हॉकिंग का 14 मार्च 2018 को निधन हो गया। ब्रितानी भौतिकी विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग ने शारीरिक अक्षमताओं के बावजूद व्हील चेयर पर बैठकर क्वांटम ग्रेविटी और ब्रह्माण्ड विज्ञान का अध्ययन कर महान सैद्धांतिक भौतिकी विज्ञानी बने। उन्होंने ब्लैक होल के सिद्धांत को समझने में उल्लेखनीय योगदान दिया।

उनका दावा था कि ब्रह्मांड की उत्पत्ति भौतिकी विज्ञान या प्रकृति के मूलभूत नियमों के अधीन हुई थी। अपने जीवन के आखिरी वर्षों में उन्होंने दुनिया को एक गंभीर चेतावनी दी। उनका कहना था कि जलवायु परिवर्तन, जनसंख्या विस्फोट और उल्का पिंडों के टकराव से खुद को बचाए रखने के लिए मानव को दूसरे ग्रह की तलाश करनी होगी। अगर ऐसा नहीं कर पाए तो सौ साल बाद पृथ्वी पर मानव जाति का बचे रहना कठिन होगा।

उन्हें 12 मानद डिग्रियां और अमेरिका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान मिला। उनकी लिखी पुस्तक ‘समय का संक्षिप्त इतिहास’ दुनिया भर में काफी पढ़ी गई और आज भी इस पुस्तक की मांग कम नहीं हुई है।

अन्य अहम घटनाएंः

1883ः दुनिया भर में मशहूर जर्मन दार्शनिक और अर्थशास्त्री कार्ल मार्क्स का निधन।

1895ः राजस्थान के प्रथम राज्यपाल गुरुमुख निहाल सिंह का जन्म।

1913ः प्रख्यात मलयाली लेखक शंकरन कुट्टी पोट्टेक्कट का जन्म।

1931ः पहली बोलती फिल्म ‘आलमआरा’ का प्रदर्शन हुआ।

1952ः राजस्थान के तीसरे मुख्यमंत्री रहे जयनारायण व्यास का निधन।

1965ः फिल्म अभिनेता आमिर खान का जन्म।