आजादी के बाद पहली बार 30 मिनट देरी से शुरू होगी गणतंत्र दिवस की परेड, जानें वजह

नई दिल्ली। इस बार 26 जनवरी को मनाए जाने वाली गणतंत्र दिवस की परेड 30 मिनट देरी से शुरू होगी। कोरोना प्रोटोकाल और श्रद्धांजलि सभा के कारण परेड शुरू होगी जो डेढ़ घंटे तक चलेगी। 75 साल में यह पहली बार है जब गणतंत्र दिवस की परेड अपने निर्धारित समय से आधे घंटे की देरी से शुरू होगी।

गौरतलब है कि हर साल गणतंत्र दिवस परेड सुबह 10 बजे शुरू होती है, लेकिन इस साल यह 10.30 बजे शुरू होगी। परेड शुरू होने से पहले, जम्मू-कश्मीर में अपनी जान गंवाने वाले सुरक्षा कर्मियों को श्रद्धांजलि दी जाएगी। वैसे परेड का कार्यक्रम डेढ़ घंटे का ही होगा।
भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। आजादी के अमृत महोत्सव पर इस साल गणतंत्र दिवस समारोह भी बेहद भव्य और ऐतिहासिक होगा। इस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले इंडिया गेट के पास राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का दौरा करेंगे। उसके बाद वे लाल किला जाएंगे। इस दौरान सांस्कृतिक विविधता, सामाजिक और आर्थिक प्रगति का प्रतिनिधित्व करने वाली झांकियों का प्रदर्शन किया जाएगा। झांकियां लाल किले तक जाएंगी और सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए वहां खड़ी की जाएंगी, लेकिन मार्चिंग दल नेशनल स्टेडियम में रुकेंगे।

कोविड प्रतिबंधों की वजह गणतंत्र दिवस पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रदर्शन करने वाले कलाकारों को किसी से मिलने की अनुमति नहीं है। गणतंत्र दिवस परेड समारोह में अब तक का सबसे भव्य फ्लाई पास्ट दिल्ली में राजपथ पर दिखेगा। भारतीय वायुसेना आजादी के दीवानों को नमन करते हुए 75 विमानों के साथ राजपथ पर फ्लाईपास्ट करेगी।

दिल्ली पुलिस ने राजपथ इलाके में कई लेयर वाले सुरक्षा के इंतजाम किए हैं। इस इलाके में 300 से अधिक ऐसे सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं जिनमें लोगों के चेहरे की पहचान करने की क्षमता है। इस संबंध में दिल्ली पुलिस का कहना है कि आतंकी खतरे के साथ ही इस बार के गणतंत्र दिवस परेड के दौरान कोरोना संक्रमण भी सुरक्षा बलों के लिए बड़ी चुनौती है।