आजमगढ़ : जहरीली शराब कांड का एक और इनामी आरोपी हुआ गिरफ्तार, आलीशान कोठी से चलता था कारोबार

आजमगढ़ पुलिस ने माहुल क्षेत्र में जहरीली शराब कांड मामले में 50 हजार के इनामी नईम को मुठभेड़ में किया गिरफ्तार।

आजमगढ़ पुलिस ने आज सुबह पूर्वांचल एक्सप्रेस- वे पर 50 हजार के इनामी आरोपी नईम को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार बदमाश की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की चार टीमें लगी हुई थी। बदमाश के बाएं पैर में गोली लगी है। जिले के अहिरौला थाना क्षेत्र में हुई जहरीली शराब की घटना के बाद से आरोपी फरार चल रहा था। जिले के SP अनुराग आर्य ने फरार आरोपी नईम पर 25 हजार का इनाम घोषित किया था, जिसे बाद में DIG अखिलेश कुमार ने बढ़ाकर 50 हजार कर दिया था।

 इस मामले में छह आरोपियों पर इनाम घोषित किया गया था, जिनमें से चार को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। फरार आरोपियों की तलाश जारी है। मामले के मुख्य आरोपी नदीम को पहले ही पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया है। नदीम की ही माहुल के रूपाईपुर स्थित फैक्ट्री से बनी शराब पीने से 13 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। जहरीली शराब कांड में अब तक 13 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आठ अभियुक्तों को पुलिस तलाश कर रही है, जिनमें दो पर इनाम रखा गया है। जिले के SP अनुराग आर्य का कहना है कि फरार आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

देर रात निलंबित किए गए थे इंस्पेक्टर
जिले केअहिरौला थाना क्षेत्र के माहुल में जहरीली शराब से हुई मौत के मामले में देर रात अहिरौला थाने के इंस्पेक्टर संजय सिंह को निलंबित कर दिया गया है। अहिरौला इंस्पेक्टर के निलंबन के बारे में चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी गई थी। अनुमति मिल जाने के बाद संजय सिंह को निलंबित किया गया। वहीं जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में देर रात आबकारी विभाग के तीन कर्मचारियों को पहले ही निलंबित किया जा चुका है। निलंबित होने वाले कर्मचारियों में निरीक्षक नीरज सिंह, आरक्षी सुमन कुमार पांडेय व राजेन्द्र प्रताप सिंह प्रमुख हैं।

क्षेत्र की तीन शराब की दुकानें निलंबित
जिले के DM अमृत त्रिपाठी के निर्देश पर माहुल क्षेत्र में हुई जहरीली शराब की घटना हादसे के बाद इस क्षेत्र की तीन दुकानों को निलंबित कर दिया गया है। निलंबित होने वाली दुकानों में अंबारी, फूलपुर व बिलारमऊ ख की तीन दुकानों को निलंबित किया गया है। इस मामले में एक मुकदमा फूलपुर थाने में जबकि दो मुकदमें अहिरौला थाने में दर्ज है। इन तीनों दुकानों से अवैध शराब बरामद हुई थी। जांच में सत्यता पाए जाने पर इन दुकानों को निलंबित किया गया है। अंबारी की दुकान के अनुज्ञापी चन्द्रकेश यादव, बिलारमऊ दुकान के अनुज्ञापी ज्ञान प्रकाश यादव व माहुल दुकान के अनुज्ञापी रंगेश यादव की दुकानों से जहरीली शराब बरामद भी हुई थी। इस मामले में तीनों के विरूद्ध मुकदमा भी दर्ज हुआ है। पूर्व बाहुबली सांसद रमाकांत यादव का रिश्तेदार रंगेश यादव इस मामले में गिरफ्तार भी हो चुका है।

आलीशान कोठी से चलता था कारोबार
जिले की पुलिस ने जब माहुल के रूपाईपुर में आलीशान कोठी पर छापा मारा, तो पुलिस के भी होश उड़ गए। इन आलीशान कोठियों में ही अवैध शराब का निर्माण होता था और यहीं से जहरीली शराब और नकली दवाओं की सप्लाई भी की जाती थी। पुलिस को वहां खेत के नीचे नकली शराब बनाने का सामान मिला है।