‘अग्निपथ’ पर भारत बंद : दिल्ली-एनसीआर में वाहनों का रेला, कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम को गाजियाबाद पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट

0
859

-जंतर-मंतर पर कांग्रेस के प्रदर्शन में शामिल होने जा रहे कार्यकर्ता जाम में फंसे

गाजियाबाद । सैन्य भर्ती की अग्निपथ योजना का विरोध सोमवार को दिल्ली-एनसीआर के लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया। दिल्ली से सटी सीमाओं पर कई-कई किलोमीटर के लगे लंबे जाम से लोगों का दम फूल गया। जाम में लोग फंसे खड़े हैं और अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। स्थिति इतनी गम्भीर है कि काफी तैयारियों के बाद भी लोग जाम से हलकान हो रहे हैं। वही गाजियाबाद पुलिस ने कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम को दिल्ली जाने से पहले ही हाउस अरेस्ट कर लिया।

अग्निपथ योजना के विरोध में आज कई संगठनों ने भारत बंद का ऐलान किया था, जिसका असर शहरी इलाकों के बाजारों में भले ही न दिख रहा हो, लेकिन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सीमाई इलाकों में साफ दिख रहा है। दिल्ली की ओर आने-जाने वाले लोगों को जाम से जूझना पड़ रहा है।

नोएडा से दिल्ली को जोड़ने वाले रास्ते पर जाम लगा है। नोएडा एक्सप्रेस-वे पर महामाया पुल से लेकर नोएडा गेट तक कई किलोमीटर लंबा जाम लगा है। इसके चलते गर्मी के इस मौसम में लोगों को परेशानी हो रही है। ग़ाज़ियाबाद से दिल्ली जाने एवं आने वाले रास्तों पर भी यही स्थिति है। हालांकि भारत बंद के एलान के बाद गाजियाबाद, नोएडा का पुलिस प्रशासन लगातार स्थिति पर नजर बनाये हुए है। दोनों ही जिलों के मेट्रो स्टेशन, रेलवे स्टेशन, मुख्य चौराहों, तिराहों, बस अड्डों पर भारी पुलिसबल तैनात है तथा पुलिस एवं प्रशासन के उच्चाधिकारी भ्रमण भी कर रहे हैं।

गाजियाबाद शहर के बाजारों पर भारत बंद का असर न के बराबर है तथा घंटाघर, चौपला मंदिर, रमतेराम रोड, नवयुग मार्किट, राजनगर, आरडीसी, गोविंदपुरम, साहिबाबाद के बाजार पूरी तरह से खुले हुए हैं। फिर भी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क दिख रहा है।

उधर दिल्ली के जंतर-मंतर पर कांग्रेस के प्रदर्शन में शामिल होने के लिए दोनों जिलों से जा रहे कांग्रेस के कार्यकर्ता भी जाम में फंसे हैं। इससे पहले अनेक कांग्रेसी दिल्ली के लिए रवाना हुए। कई जंतर-मंतर पहुंच भी चुके हैं। कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम को पुलिस ने हाउस अरेस्ट कर लिया। वह जंतर-मंतर जाने की तैयारी में थे, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन्हें रोक लिया और हाउस अरेस्ट कर लिया।

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनि राज का कहना है कि पुलिस पूरी तरह से स्थिति पर नजर बनाए हुए है। जहां कहीं भी जाम की सूचना मिल रही है उसे पुलिस खुलवा रही है। उनका कहना है कि किसी भी सूरत में जिले का माहौल बिगड़ने नहीं दिया जाएगा।