अकेले दम पर उतरेंगे यूपी के चुनावी रण में : राजा भैया

प्रतापगढ़।  उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में कुन्डा विधान सभा क्षेत्र के विधायक एवं जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने कहा कि उनकी पार्टी अकेले दम पर विधानसभा चुनाव के रण में उतरेगी।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) गठबंधन के कयास पर विराम लगाते हुए उन्होंने कहा “ हम बहुत मजबूती से अपने दल से चुनाव लड़ेंगे। अभी तक हमने अपने दल से कुल 17 प्रत्याशी घोषित किये है। आखिरी प्रत्याशी घोषित करने के बाद बतायेगे कि उत्तर प्रदेश की कितनी सीटों पर जनसत्ता दल लड़ेगा।”

दलबदल की राजनीति पर राजा भैया ने कहा “ चुनाव के समय दलबदल की राजनीति होती है।”

राजा भैया 1993 में पहली बार कुन्डा क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़े और विजयी हुये, तब से वह लगातार कुन्डा क्षेत्र से चनाव जीतते चले आ रहे है। राजा भैया भाजपा की सरकार में मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह और समाजवादी पार्टी की सरकार में मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव व अखिलेश सिंह यादव के मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री रहे। इसके अलावा कई बार अपने प्रत्याशी अक्षय प्रतापसिंह उर्फ गोपाल जी को प्रतापगढ़ की विधान परिषद की सीट पर विजयी बनाया।

जिले की बाबागंज सुरक्षित सीट पर अपने प्रत्याशी विनोद को निर्दलीय विधायक के रूप में विजयी बनाते चले आ रहे है। वर्तमान में उनकी पार्टी के अक्षय प्रताप सिंह विधान परिषद सदस्य है और बाबा गंज से विनोद सरोज विधायक है। पिछले जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में उनका प्रत्याशी विजयी हुआ है। 2017 में प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद राजा भैया ने समाजवादी पार्टी से अपना गठबंधन तोड़ कर अपना जनसत्ता दल लोकतांत्रिक दल का गठन किया था।