Breaking News
Home / अपराध / Road Accident in Banda : 120 की रफ़्तार से ट्रक में घुसी बोलेरो, 7 मौतें, कटर से गाड़ी काटकर निकाले शव

Road Accident in Banda : 120 की रफ़्तार से ट्रक में घुसी बोलेरो, 7 मौतें, कटर से गाड़ी काटकर निकाले शव

बांदा में गुरुवार देर रात भीषण सड़क हादसा हो गया। यहां सड़क किनारे खड़े ट्रक में तेज रफ्तार बोलेरो पीछे से जा घुसी। हादसे में बोलेरो में सवार 8 लोगों में से 7 की मौत हो गई। जबकि 1 घायल का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। मरने वालों में मां और बेटा भी शामिल हैं।

बताया जा रहा है कि कमासिन थाना क्षेत्र के तिलौसा गांव के 13 साल के कल्लू को करंट लग गया था। बच्चे को इलाज के लिए परिवार बोलेरो से बबेरू CHC जा रहा था, तभी परैया दाई के पास 120 की रफ्तार से जा रही बोलेरो अनियंत्रित होकर खड़े ट्रक में पीछे से घुस गई।

5 की मौके पर मौत, 2 ने अस्पताल में तोड़ा दम
तेज धमाके की आवाज सुनकर स्थानीय लोग ​मौके पर पहुंचे और घटना की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने एम्बुलेंस से सभी को अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टर ने 5 की मौत होने की पुष्टि की। वहीं इलाज के दौरान 2 अन्य की भी मौत हो गई। हादसे में कल्लू और उसकी मां सायरा बानो (38) , मोहम्मद कैफ (16), मुशाजिद (42), शकील (25), और दो अन्य की मौत हो गई। जबकि 27 साल का बांदा जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

कटर मशीन से गाड़ी काटकर निकाले गए शव
हादसा इतना जोरदार था कि बोलेरो का आधा हिस्सा ट्रक में घुस गया। गाड़ी में फंसे लोगों को निकालने के लिए कटर मशीन मंगाया गया। मशीन से गाड़ी को काट कर लोगों को बाहर निकाला गया और अस्पताल भेजा गया।

120 की स्पीड में जा रही थी गाड़ी- डीएम
हादसे की सूचना मिलते ही बांदा डीएम दुर्गा शक्ति नागपाल, SP अभिनंदन बेबेरू CHC पहुंचे। डीएम दुर्गा शक्ति नागपाल ने कहा, ”हादसा देखकर ऐसा लग रह बोलेरो की स्पीड करीब 120 की रही होगी। हादसे में 5 लोगों की मौके पर मौत हो गई है। जबकि तीन घायलों को बबेरू CHC लाया गया। जहां दो की इलाज के दौरान मौत हो गई। एक का इलाज जिला अस्पताल चल रहा है। उसकी भी हालत गंभीर है। CMS से बात हो गई है। सारे इंतजाम कर दिए गए हैं। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...