Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / ”80 हराओ-भाजपा हटाओ” के नारे के साथ सपा लड़ेगी उप्र में लोकसभा चुनाव

”80 हराओ-भाजपा हटाओ” के नारे के साथ सपा लड़ेगी उप्र में लोकसभा चुनाव

पीडीए की एकता भाजपा गठबंधन पर पड़ेगा भारी : अखिलेश यादव

लखनऊ (हि.स.)। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सन् 2014 में सत्ता में जैसे आई थी सन् 2024 में उसकी वैसे ही यूपी से विदाई होगी। हमारा नारा है “80 हराओ-भाजपा हटाओ”। इसलिए सन् 2024 में ”पीडीए” पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यकों की एकता एनडीए- भाजपा गठबंधन पर भारी पड़ेगी। सन् 2024 में महंगाई, बेरोजगारी, गरीब का सम्मान और उसे न्याय तथा सुविधाएं दिलाना बड़ा मुद्दा होगा। गरीब, किसान, नौजवान भाजपा के खिलाफ वोट करेगा।

अखिलेश यादव का यह भी कहना है कि विपक्षी एकता का फार्मूला यही हो सकता है कि जो दल जिस प्रदेश में मजबूत हो उसको आगे करके ही बाकी दल चुनाव लड़ें। चुनाव और एकता के लिए बड़े दिल की जरूरत होती है। जो दल भाजपा को हराना चाहते हैं वे समाजवादी पार्टी का साथ देने में बड़ा दिल दिखाएं। समाजवादी पार्टी का लक्ष्य भाजपा को प्रदेश की सभी 80 सीटों पर हराना है। जनता बदलाव चाहती है।

सपा अध्यक्ष ने कहा प्रदेश की भाजपा सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है। उनके 6 साल के कार्यकाल में न एक जिला चिकित्सालय बना, नहीं एक एयरपोर्ट बना। प्रदेश में निवेश आने की बड़ी उम्मीदें थी, हकीकत में निवेशक ढूंढे़ नहीं मिल रहे हैं। समाजवादी सरकार में बिना इन्वेस्टमेंट मीट किए यूपी में एचसीएल आया, सैमसंग का प्लांट लगा।

उन्होंने कहा कि जिसकी तैयारी जमीन पर होगी वही लड़ पायेगा। भाजपा बड़ी-बड़ी कम्पनियों को हायर कर, पैसों से चुनाव लड़ती है। भाजपा से लड़ने के लिए समाजवादी पार्टी अपने कार्यकर्ताओं को जमीन पर तैयार कर रही है। पिछले विधानसभा चुनाव में जनता ने समाजवादी पार्टी को बड़े पैमाने पर वोट दिया था। उन्होंने कहा कि आज महंगाई चरम पर है। किसान को फसल की कीमत नहीं मिली। भाजपा ने स्वास्थ्य, पुलिस सेवाएं सब खराब कर दी। समाजवादी पार्टी भाजपा को हरायेगी। जनता की उम्मीदों को पूरा करेगी।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने मंडी नहीं बनायी। किसानों को उनकी फसल की कीमत नहीं मिल रही है। पिछड़े, दलितों को नौकरियां नहीं मिल रही है। आउटसोर्स पर और कांटैक्ट पर काम कराए जा रहे हैं। निजी क्षेत्र में आरक्षण मिलना चाहिए। भाजपा सरकार क्यों निजीकरण की तरफ जा रही है? आउटसोर्स कर रही है? जातीय जनगणना जरूरी है। जातीय जनगणना के बाद ही सामाजिक न्याय मिल पाएगा। आबादी के हिसाब से हक और सम्मान देना है तो जातीय जनगणना जरूरी है। जब समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी तो जातीय जनगणना कराई जाएगी। भाजपा समाज को तोड़ने और लड़ाने का काम करती है। वह सामाजिक न्याय की विरोधी है।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने जो भी एक्सप्रेस-वे बनाए है उनमें जमकर लूट और भ्रष्टाचार किया। इण्डियन रोड कांग्रेस के मानक को नहीं माना। बुन्देलखंड और पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे में भ्रष्टाचार किया। बुन्देलखंड एक्सप्रेस-वे पीएम के उद्घाटन के बाद टूट गया।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार से लोगों की उम्मीद खत्म हो रही है। पुलिस अन्याय अत्याचार कर रही है। पुलिस के कारनामे शर्मनाक है। पुलिस पर जिस तरह के आरोप लग रहे हैं वैसा यूपी में कभी नहीं हुआ। समाजवादी सरकार ने पुलिस को इन्फ्रास्ट्रक्चर दिया। बेहतरीन पुलिस हेड क्वार्टर दिया। डायल 100 दिया जिससे जनता को तत्काल न्याय मिले। महिला सुरक्षा के लिए वीमेन पावर लाइन 1090 दिया, जिसकी सुप्रीम कोर्ट ने भी सराहना की। लेकिन आज कानून व्यवस्था बिगड़ गई है। भ्रष्टाचार चरम पर है। पुलिस पर चोरी के आरोप लग रह हैं। भाजपा के सांसद थानों में घुस कर पुलिस को पीट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग दंगे कराते हैं। एनसीआरबी के आंकड़े बताते हैं कि यूपी की कानून व्यवस्था बेहद खराब है। भाजपा सरकार के लोग चुनाव में पैसे और अधिकारियों की ताकत से लूट और बेईमानी करते हैं।

उन्होंने ने कहा कि अब भाजपा को आसानी से हराया जा सकता है। क्योंकि महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार से पूरा देश परेशान है। गरीब दुःखी है। दस सालों की सरकार के बाद भाजपा ने जनता की उम्मीदों को पूरा नहीं किया।

Check Also

हर भारतीय के किचन में पहुंची मैगी…..सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक !

नई दिल्ली (ईएमएस)। नेस्ले इंडिया ने हाल ही में खुलासा किया है कि भारत में ...