Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / 232.21 करोड़ से बनेगा नाथ नगरी कारिडोर : पार्वती, गौरी के नाम पर स्थापित होंगी वाटिका, बनेंगे सेल्फी प्वाइंट

232.21 करोड़ से बनेगा नाथ नगरी कारिडोर : पार्वती, गौरी के नाम पर स्थापित होंगी वाटिका, बनेंगे सेल्फी प्वाइंट

नाथ मंदिरों के साथ बनेगा वैदिक पुस्तकालय, भंडारा एवं रुद्राभिषेक कर्मकांड हाल

पार्वती, गौरी के नाम पर स्थापित होंगी वाटिकाएं, लगेंगी झांकियां, पल्लवित होंगे सुगंधित पुष्प वाले पौधे

32.5 किमी की परिधि में बनाई जाएंगी 12 सेल्फी प्वाइंट, केदारनाथ, काशी विश्वनाथ समेत ज्योतिर्लिंग के होंगे दर्शन

बरेली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर बरेली में नाथ नगरी कारिडोर की डीपीआर तैयार हो गई है। 232.21 करोड़ से नाथ मंदिरों का सौंदर्यकरण कर भव्य कारिडोर का निर्माण कराया जाएगा। बरेली कमिश्नर सौम्या अग्रवाल व बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह ने इसका प्रस्ताव शासन के पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव और महानिदेशक मुकेश मेश्राम को भेज दिया है। नाथ मंदिरों को जाने वाली सड़कों के चौड़ीकरण सौंदर्य करण और नाथ मंदिरों के जीर्णोद्धार एवं नवीन विकास का भव्य आकर्षक लेआउट और डिजाइन आर्किटेक्ट सुमित अग्रवाल से तैयार किया गया है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस प्रस्ताव को हरी झंडी दी थी और डीपीआर बनाने के निर्देश दिए थे। इसी क्रम में बरेली विकास प्राधिकरण ने इसकी डीपीआर में जनप्रतिनिधि द्वारा इसके प्रस्तुतीकरण में दिये गये बहुमूल्य सुझाव को सम्मिलित करते हुए शासन को भेज दी गई है।

वैदिक पुस्तकालय : वेद पुराण उपनिषद  पढ़ेंगे और देखेंगे भी

नाथनगरी कारीडोर में अलखनाथ, त्रिवटी नाथ और बनखंडी नाथ मंदिर में वैदिक पुस्तकालय होंगे। इसमें वेद पुराण उपनिषद एवं पौराणिक ग्रंथ रखे जाएंगे। इसके अलावा इनकी डिजिटल कॉपी भी होगी। पढ़ने के साथ ही आप इसे देख भी सकते हैं। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है।

एक साथ ढाई सौ लोग कर सकेंगे सत्संग, भंडारा, रुद्राभिषेक और होगा कर्मकांड

नाथ नगरी के सातों नाथ मंदिर में एक मल्टीपरपज हाल का निर्माण कराया जा रहा है। इसमें भंडारा एवं रुद्राभिषेक और कर्मकांड की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा प्रथम तल पर ढाई सौ लोग एक साथ सत्संग , शिव महापुराण कथा आदि कर सकेंगे। तुलसी स्थल का भी विकास अलखनाथ मंदिर के साथ साथ कराया जाएगा ।

पार्वती, गौरी के नाम पर स्थापित होंगी वाटिका, बनेंगे सेल्फी प्वाइंट

मंडलायुक्त सौम्या अग्रवाल ने बताया कि पार्वती और गौरी के नाम पर सभी मंदिरों में वाटिका स्थापित की जाएंगी। इनमें नाथ मंदिरों की झांकियां होंगी। इसके अलावा वहां सुगंधित पौधे लगाए जाएंगे। इससे मंदिर में आने वाले श्रद्धालु वहां बैठ सकें। 32. 5 किलोमीटर की परिधि में सातों नाथ मंदिरों को जोड़ा जा रहा है। इसमें करीब 12 स्थानों पर सेल्फी प्वाइंट बनाए जा रहे हैं। 3 डी सेल्फी प्वाइंट पर केदारनाथ काशी विश्वनाथ समेत 12 ज्योतिर्लिंग के मनमोहक दर्शन होंगे।

मंदिरों को जाने वाली सड़कें हो रही सिक्स लेन और फोरलेन, शुरू हुआ काम

मंडलायुक्त  सौम्या अग्रवाल ने बताया कि नाथ नगरी कारिडोर के प्रथम चरण का कार्य बरेली विकास प्राधिकरण द्वारा करवाया जा रहा है , जिसमे नाथ कॉरिडोर को सेवित करने वाले मुख्य सड़कों के चौड़ीकरण का कार्य अंतिम चरण में है। सेटेलाइट से लेकर इनवर्टिस तिराहा, डेलापीर आदिनाथ तिराहे से बैरियर टू पुलिस चौकी तक सिक्स लेन रोड बनाया जा रहा है। रामपुर मिनी बाईपास से झुमका तिराहा, हरूनगला से बीसलपुर रोड और चौपला चौराहा से जुए की पुलिया तक फोरलेन सड़क का निर्माण तेजी से कराया जा रहा है। इसके अलावा बड़ा बाईपास से अब्दुल्लापुर माफी एग्जीक्यूटिव क्लब होते हुए बनखंडी नाथ के लिए भव्य सड़क का निर्माण कराया जाना प्रस्तावित है। जिससे पीलीभीत एवं बड़ा बायपास से आने वाले श्रद्धालु सीधे बाईपास से बनखंडी नाथ मंदिर की दर्शन करने आ सकेंगे।

बरेली दिल्ली हाईवे पर हो रहा गंभीर नाथ द्वार का निर्माण, नाथ कॉरिडोर के प्रथम चरण का कार्य पूरा

बरेली के मुख्य मार्ग पर प्राधिकरण द्वारा भव्य प्रवेश द्वार का निर्माण करवाया जा रहा है। उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह ने बताया की बरेली दिल्ली हाईवे पर झुमका तिराहे के पास गंभीर नाथ द्वार का निर्माण कराया जा रहा है। वहां ओम का प्रणव भी स्थापित होगा। इसके अलावा शाहजहांपुर रोड पर अलखनाथ द्वार, नरियावल में त्रिशूल, डेलापीर आदिनाथ तिराहे पर डमरु, बीसलपुर रोड पर केदारनाथ और बदायूं रोड पर मढ़ीनाथ तपेश्वर नाथ द्वार का निर्माण तेजी से कराया जा रहा है। जल्द ही वहां भव्य आकर्षक द्वार बनकर तैयार हो जाएंगे।

नाथ नगरी के सातों मंदिरों के सौंदर्यीकरण पर खर्च होंगे 66.6 करोड़

नाथ कॉरिडोर के मार्ग के चौड़ीकरण, सोंदयकरण , प्रकाश व्यवस्था आदि पर 75.20 करोड़ रुपये की प्रारम्भिक परियोजना शासन को प्रेषित की गई है , इसमें तपेश्वर नाथ मंदिर को सेवित मार्ग पर अंडरपास को भी प्रस्तावित करके भेजा गया है।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...