Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / 15 जून से लखनऊ में चढ़ेगा योग का पारा, जानिए क्या है तैयारी

15 जून से लखनऊ में चढ़ेगा योग का पारा, जानिए क्या है तैयारी

लखनऊ,  (हि.स.)। लखनऊ में स्थित केन्द्रीय विभागों के कार्यालयों और उत्तर प्रदेश के सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों ने योग अभ्यास शुरू कर दिया है। 15 जून से लखनऊ में शिक्षण समितियों, सामाजिक संगठनों के योगाभ्यास में भागीदारी किये जाने के बाद पूरे तरह से योग का पारा चढ़ेगा।

अलीगंज स्थित केन्द्रीय भवन में आजकल योग अभ्यास की चर्चाओं के बीच एक दूसरे से बेहतर योग करने की होड़ लगी हुई है। केन्द्रीय भवन में आईटीबीपी के अधिकारियों की ओर से रविवार को योगाभ्यास हुआ। जिसमें योग की विभिन्न स्थितियों में अभ्यास कर गलतियों का सुधार कराया गया। इसी तरह शहर के बिजनौर क्षेत्र में द्रुत कार्य बल की 91 वीं बटालियन के अधिकारियों ने अपने कैम्प के साथ ही प्रसिद्ध रेजीडेंसी पार्क में भी योगाभ्यास किया।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए एक सप्ताह तक योग करने और योग सप्ताह मनाने का निर्देश मुख्यमंत्री कार्यालय से होने के बाद उत्तर प्रदेश के बड़े सरकारी विभागों में अधिकारियों ने 15 जून से योगाभ्यास की अपनी तैयारियों के लिए चर्चा की। लोक निर्माण विभाग में बीते वर्ष की भांति खुले में योगाभ्यास करने के लिए तैयारी की जा रही है।

उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग में मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह सहित अधिकारियों की ओर से अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए भव्य आयोजन की तैयारी है। इससे पहले विभागीय अधिकारी 15 जून से एक सप्ताह तक योग अभ्यास करेंगे। लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डा.इन्द्रमणि त्रिपाठी के नेतृत्व में प्राधिकरण के अधिकारी योग सप्ताह मनाने के लिए पार्कों को स्वच्छ कराने और उचित स्थान का चयन करने के लिए मंगलवार से लगेंगे।

गोमती नदी के किनारे पार्कों में भी योगाभ्यास की तैयारी में सामाजिक संगठन के कार्यकर्ता लगे हुए हैं। योग सप्ताह मनाने के लिए खुले पार्क का चयन करते हुए गोमती नदी का किनारा बेहतर विकल्प दिख रहा है। झूलेलाल पार्क घाट पर स्थानीय सामाजिक संगठन के कार्यकर्ता 15 जून से अभ्यास करते नजर आएंगे।

इसी तरह जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार के नेतृत्व में अधिकारियों की एक टीम शहर के विभिन्न आयोजनों को लेकर जानकारी सूचीबद्ध करने जा रही है, जिससे शहर में होने वाले कुल योग दिवस आयोजन की जानकारी एकत्रित की जा सके। इसके साथ ही जिला प्रशासन की पूरी टीम स्वयं भी योगाभ्यास करने वाली है।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...