Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / सात पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज कराने वाले अधिवक्ता की मार्ग दुर्घटना में मौत

सात पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज कराने वाले अधिवक्ता की मार्ग दुर्घटना में मौत

बाराबंकी/गोण्डा (हि.स.)। एक पखवाड़े पूर्व कर्नलगंज के कोतवाल सहित सात पुलिसकर्मियों पर डकैती सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराने वाले अधिवक्ता की मार्ग दुर्घटना में मौत हो गई। यह दुर्घटना बाराबंकी जिले के मसौली थाना क्षेत्र के पास गोण्डा- बहराइच राजमार्ग पर हुई। घटना की सूचना गांव पर पहुंचते ही पूरे गांव में मातम छा गया।

गोण्डा जिले के कर्नलगंज कोतवाली के गांव कैथोली निवासी जयप्रकाश लखनऊ हाईकोर्ट में अधिवक्ता थे। पड़ोसी से उनका जमीन का विवाद चल रहा था। इस मामले में एक बार दीवानी से स्टे भी हुआ था। बाद में पैरवी न होने के कारण विपक्ष का स्थगन आदेश खारिज हो गया। उसके बाद अधिवक्ता एसडीएम के आदेश से अपने मकान का निर्माण करने लगा। बताया जाता है कि इस आदेश में एसडीएम कर्नलगंज ने विवादित परिसर छोड़ कर निर्माण कराने के आदेश दिए थे। उसके बाद अधिवक्ता ने निर्माण कराना शुरू किया। इसी मामले को लेकर अधिवक्ता के पड़ोसी ने पुलिस में शिकायत की थी। शिकायत को देखने कर्नलगंज कोतवाल और भभुआ चौकी इंचार्ज अपने दल बल के साथ गए थे। अधिवक्ता का आरोप है कि भभुआ चौकी इंचार्ज और कोतवाल 50 हजार रुपये की मांग कर रहे थे। न देने पर परिवार और मेरे साथ पुलिसकर्मियों ने मारपीट की तथा घर में छत डालने के लिए रखे पैसे उठा लाए। उल्टे मुकदमा लिख कर अधिवक्ता और उसके साथी को जेल भेज दिया। इस पूरे प्रकरण को लेकर अधिवक्ता ने मानवाधिकार आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी। आयोग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए कोतवाल सहित सात पुलिसकर्मियों पर प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। आयोग के निर्देश पर कटरा थाने में मुकदमा पंजीकृत हुआ था। मामला पुलिस से जुड़ा होने के नाते इसकी तेजी से विवेचना हुई और मुकदमा विवेचना के दौरान फर्जी पाए जाने पर स्पंज कर दिया गया। मामला पुलिस से जुड़ा होने के कारण मीडिया की सुर्खियों में रहा।

अधिवक्ता जयप्रकाश यादव रविवार को अपने घर आए थे और सोमवार की सुबह बाइक से लखनऊ के निकले थे। घर से लखनऊ जाते समय बाराबंकी जिले के मसौली थाना क्षेत्र के पास मार्ग दुर्घटना में उनकी मौत हो गई। सामने से आ रहे किसी ट्रक ने उन्हें टक्कर मार दी। मौके पर ही अधिवक्ता की मौत हो गई।

इस संबंध में मसौली थाने के एसआई अजोर मिश्रा ने बताया कि अधिवक्ता की हाईवे पर नहर पुल पर दुर्घटना हुई है। सूचना पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। आसपास के लोगों ने बताया कि ट्रक की टक्कर से मोटर साइकिल सवार अधिवक्ता की मौत हुई है। अधिवक्ता की बाइक थाने पर रखवाकर अन्य विधिक कार्रवाई की जा रही है।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...