Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी में इस वर्ष लगेंगे 35 करोड़ पौधे, 15 अगस्त को 05 करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य

यूपी में इस वर्ष लगेंगे 35 करोड़ पौधे, 15 अगस्त को 05 करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य

-मुख्यमंत्री के निर्देश, 01 से 07 जुलाई तक चलाएं पर्यावरण संरक्षण जागरुकता अभियान

-2027 तक प्रदेश में 15 प्रतिशत होगा हरित क्षेत्र, हर नागरिक की भूमिका अहम : मुख्यमंत्री

-वर्ष 2023-24 के वृहद पौधारोपण अभियान के लिए मुख्यमंत्री योगी ने दिए दिशा-निर्देश

लखनऊ  (हि.स.)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को यहां कहा कि उत्तर प्रदेश में पौधारोपण अभियान अब जनांदोलन का स्वरूप ले चुका है। उन्होंने बताया कि विगत 06 वर्ष में प्रदेश में 131 करोड़ से अधिक पौधरोपण किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने इस साल 35 करोड़ पौधे लगाने की बात कही है और 15 अगस्त को 05 करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आज देर शाम एक उच्चस्तरीय बैठक में वर्ष 2023-24 के वृहद पौधारोपण अभियान के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस वर्ष वृहद पौधारोपण अभियान में 35 करोड़ पौधे लगाए जाने का लक्ष्य लेकर हर विभाग, हर संस्थान हर नागरिक को प्रयास करना होगा। वन विभाग द्वारा विभागवार पौधरोपण का लक्ष्य दिया जाए, इसी के अनुरूप मंडलवार लक्ष्य भी तय किया जाना चाहिए। उन्होंने 15 अगस्त के दिन एक साथ 05 करोड़ पौधे लगाए जाने की तैयारी करने का निर्देश दिया।

छह वर्षों में 131 करोड़ से अधिक हुआ पौधरोपण

उन्होंने कहा कि उप्र में पिछले छह वर्षों में 131 करोड़ से अधिक पौधरोपण किया जा चुका है। इस कार्य में व्यापक जनसहयोग प्राप्त हुआ है। वर्ष 2017-18 में 5.72 करोड़, 2018-19 में 11.77 करोड़, 2019-20 में 22.60 करोड़, 2020-21 में 25.87 करोड़, 2021-22 में 30.53 करोड़ और 2022-23 में 35.49 करोड़ पौधे लगाए गए। यह सुखद है कि पौधे लगाने के साथ-साथ इनके संरक्षण का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

प्रदेश के कुल हरित क्षेत्र में 794 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि हुई

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्टेट ऑफ फारेस्ट की रिपोर्ट के अनुसार 2015 से 2021 की अवधि में प्रदेश के कुल हरित क्षेत्र में 794 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य प्रदेश के कुल हरित क्षेत्र को 9 प्रतिशत से बढ़ाकर 2026-27 तक 15 प्रतिशत तक ले जाने का है। इस लक्ष्य के अनुरूप अगले 05 वर्ष में 175 करोड़ पौधे लगाने और संरक्षित करने होंगे। इस लक्ष्य के अनुरूप सभी को प्रयास करना होगा।

01 से 07 जुलाई तक चलेगा प्रदेशव्यापी पर्यावरण संरक्षण अभियान

उन्होंने 01 से 07 जुलाई की अवधि में प्रदेशव्यापी पर्यावरण संरक्षण अभियान संचालित करने का निर्देश दिया। योगी ने कहा कि प्रतिबंधित प्लास्टिक के उपयोग न करने, स्वच्छता के लिए प्रोत्साहित करने, वेस्ट मैनेजमेंट के लिए आम जन को जागरूक करने के लिए स्कूलों में भी इस दौरान कार्यक्रम आयोजित हों। निबंध लेखन, प्रभात फेरी, नुक्कड़ नाटक जैसे कार्यक्रमों से आम जन को पर्यावरण संरक्षण की मुहिम से जोड़ें। इस एक सप्ताह के जागरूकता अभियान के उपरांत वृहद पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित होगा।

गांवों में खेल के मैदान के चारों ओर हो पौधारोपण

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में खेल के मैदान के चारों ओर पौधारोपण किया जाए। बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा इस संबंध में कार्यवाही की जाए। इसके अलावा इस वर्ष अभियान के तहत प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर न्यूनतम 01 हजार पौधे लगाए जाएं। शहरी वार्डों में भी पौधारोपण के लिए लक्ष्य निर्धारित करें।

वानिकी को जन आन्दोलन बनाने के लिए माइक्रोप्लान तैयार करने का निर्देश

योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में हरित आवरण में वृद्धि के लिए वृक्षारोपण को बढ़ावा देने तथा व्यापक स्तर पर जन सामान्य के सहयोग से वानिकी को जन आन्दोलन बनाये जाने हेतु ग्रामीण व शहरी माइक्रोप्लान तैयार करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि समस्त शासकीय परिसरों, न्यायालय परिसरों, निजी भूमि एवं शासकीय निकायों, रेलवे, रक्षा एवं अन्य सम्बंधित शासकीय विभागों व संस्थाओं को पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की पौधशालाओं से पौधा उपलब्ध कराया जाए। हाईटेक नर्सरी तैयार करें। हर किसी को उच्च गुणवत्ता के पौधे सुलभता से मिल सकें, इसके लिए विधिवत तैयारी और प्रचार-प्रसार किया जाए। पौधारोपण स्थलों की जियो टैगिंग भी की जाए।

हरीतिमा बढ़ाने के लिए शहरों में विशेष प्रयास की आवश्यकता

मुख्यमंत्री ने कहा कि वन क्षेत्र को सघन बनाने एवं हरीतिमा बढ़ाने के लिए हमें शहरों में विशेष प्रयास करना होगा। दो लाख से अधिक की जनसंख्या वाले सभी नगरीय निकायों में सिटी फारेस्ट का विकास किया जाए। निजी क्षेत्रों, एनजीओ, धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं को इस अभियान से जोड़ने का भी निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया।

Check Also

बाराबंकी : संदिग्ध परिस्थितियों में बालिका की मौत, कहीं हत्या तो नहीं

देवा थाना क्षेत्र के मोहल्ला कचेहरान में 12 वर्षीय बालिका का शव छत में लगे ...