Breaking News
Home / अपराध / मीरजापुर : आयुष ने दिखाई बहादुरी, नकाबपोश बादमाशों के चंगुल से बचकर भागा

मीरजापुर : आयुष ने दिखाई बहादुरी, नकाबपोश बादमाशों के चंगुल से बचकर भागा

– हलिया के परसिया मुड़पेली गांव का मामला

मीरजापुर  (हि.स.)। हलिया थाना क्षेत्र अंतर्गत परसिया मुड़पेली गांव निवासी राजेश पांडेय के बहादुर पुत्र आयुष पांडेय (11) ने कार सवार नकाबपोश बदमाशों के चंगुल से अपने आप को बचा लिया। वाचर की सूचना पर पहुंचे पिता ने घायल बेटे को चिकित्सालय में भर्ती कराया। बदमाशों ने बालक का अपहरण क्यों किया, इसके बारे में अभी तक कुछ पता नहीं चल सका है।

अपहृत बालक के पिता राजेश ने बताया कि गत 10 जुलाई को आयुष सिवान में शौच के लिए गया था। इसी दौरान नकाबपोश तीन बदमाश आए और उसके चेहरे पर स्प्रे छिड़क छिड़ककर कार में बैठा ले गए। कैमूर पहाड़ के जंगल स्थित उत्तर भारत व मध्य प्रदेश के बार्डर सीधी के केराई गांव के पास पहुंचे और सड़क किनारे कार खड़ी कर बालक को कंधे पर लादकर ले जाने लगे। इसी बीच बालक होश में आ गया और शोर मचाने लगा। शोरगुल सुन जंगल किनारे घर के लोग उसकी ओर दौड़े।

लोगों को अपनी ओर आते देखकर बदमाश बालक को छोड़कर फरार हो गए। बालक ने ग्रामीणों को घटना के बारे में बताते हुए अपना नाम पता बताया। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग के वाचर बालक के गांव निवासी मुन्ने खान ने फोन कर परिवार को जानकारी दी। मुन्ने खान ने इसकी सूचना बालक के पिता को दी तो रात का समय होने के कारण परिजन नहीं पहुंच पाए। परिवार के न आने पर बालक बोदरहवा गांव निवासी सहदेव कोल के यहां रात्रि में रहा। सुबह पहुंचे बालक के पिता राजेश पांडेय अपने बेटे को अस्पताल ले गए। इस संबंध में थानाध्यक्ष विष्णु प्रभा सिंह ने बताया कि मामले की सूचना मिली है, लेकिन बालक के परिजन ने तहरीर नहीं दी है। तहरीर मिलते ही कार्रवाई की जाएगी।

Check Also

हर भारतीय के किचन में पहुंची मैगी…..सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक !

नई दिल्ली (ईएमएस)। नेस्ले इंडिया ने हाल ही में खुलासा किया है कि भारत में ...