Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / महंगाई ने बिगाड़ा आम आदमी के खाने का बजट और स्वाद, ग्रामीण क्षेत्रों में आसमान छू रहे सब्जियों के दाम

महंगाई ने बिगाड़ा आम आदमी के खाने का बजट और स्वाद, ग्रामीण क्षेत्रों में आसमान छू रहे सब्जियों के दाम

मिल्कीपर अयोध्या। ग्रामीण क्षेत्रों में इन दिनों टमाटर और मिर्चा के दाम आसमान छू रहे है। भाव में तेजी के कारण ग्रहणियों किचन का बजट बिगाड़ दिया है। बाजार में आठ दिन पहले तक टमाटर थोक में 60 से 70 रुपए किलो बिकने वाले टमाटर के दाम अब 150 रुपए के पार पहुंच गए हैं। एक किलो टमाटर 150 से 160 रुपए किलो और हरी मिर्च 80 से 100 रूपए प्रति किलो में भी बिक रहा है।
मिल्कीपर, अमरगंज कुचेरा,बारून बाजार, खण्डासा, हैरिंग्टनगंज कुमारगजं क्षेत्र में इन दिनों बढ़ते दामों के कारण लोगों के रसोई घर में इस्तेमाल होने वाली सब्जियां गायब होती नजर आ रही हैं। रामकुमार मौर्य, देवी प्रसाद, दीनानाथ, शिव बहादुर, रामजीत मौर्या, अनुराग वर्मा, राजाराम चौरसिया का कहना है कि बढ़ते दामों के कारण ग्राहकों में काफी हद तक कमी आई है। वहीं सब्जी के थोक विक्रेता रमेश चंद, अनुराग, नारायण सिंह, प्रमोद कुमार,रामबली,लोसई का कहना है कि बरसात के मौसम में सब्जियां जल्दी खराब हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि अधिक बरसात के कारण तथा स्थानीय क्षेत्र में से उगाई जाने वाली सब्जियां खत्म हो गई है। सब्जियां बाहर के राज्य से या अन्य जिलों से मंगाई जा रही है जिसके कारण भाव में उछाल आ रहा है। एक माह में दोगुना सब्जियों के दाम बढ़े हैं।
टमाटर 150- 160, खीरा 70- 80 आलू 20- 22
प्याज 20- 25, नींबू 100- 120, तोरई 30- 40,
अरवी 50- 60, बैंगन 50- 60 भिन्डी 30- 40,
करेला 60-70 रुपए प्रति किलो में बेचा जा रहा है। पटरी दुकानदारों का कहना है कि मंडी से ही हम लोगों को महंगे दामों पर सब्जियां मिल रही हैं जिसके चलते महंगी बेचनी पड़ रही है

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...