Breaking News
Home / अपराध / भैंसों की तलाश में निकले पूर्व प्रधान पति व किसान के नदी में मिले शव, सूचना पर पहुंची पुलिस

भैंसों की तलाश में निकले पूर्व प्रधान पति व किसान के नदी में मिले शव, सूचना पर पहुंची पुलिस

भैंसों की तलाश में दोनों निकले थे घर से, कगार में पैर फिसलने से मौत की आशंका

हमीरपुर,  (हि.स.)। दो दिन पूर्व खोई भैंसों की तलाश में घर से निकले पूर्व प्रधान पति व किसान के शव बेतवा नदी किनारे रविवार को मिलने सनसनी फ़ैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। दोनों की मौत के पीछे नदी की कगार से फिसलकर पानी में गिरने का कारण माना जा रहा है।

ललपुरा थानाक्षेत्र के ग्राम पंचायत टीकापुर के मजरा बहदीना अछपुरा निवासी पूर्व प्रधान प्रतिनिधि रघुवीर (55) पड़ोसी किशवा उर्फ केशबाबू (45) पुत्र सियाराम भैंसे खो जाने पर पिछले सात जुलाई को तलाश में बेतवा नदी की तरफ गए थे, लेकिन देर रात जब दोनों घर नहीं लौटे, तो परिजनों ने उनकी तलाश की। मगर उनका कोई सुराग नहीं लगा। जिस पर दोनों के परिजनों ने थाने में गुमशुदगी गुमशुदगी दर्ज करा दी।

रविवार दोपहर में कुम्हऊपुर गांव के मजरा भटपुरा के पास बेतवा नदी किनारे किशवा का शव पड़ा चरवाहों ने देखा। वहीं देर शाम करीब पांच बजे रघुवीर का शव नैठी के निकट बेतवा नदी में उतराता मिला। घटना स्थल पर पहुंचे परिजनों ने उनकी पहचान की। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

ग्राम प्रधान शिवेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि बीते शुक्रवार को किशवा व रघुवीर की भैंसे खो गई थी। जिन्हें ढूंढने दोनों घर से निकले थे। उसके बाद दोनों घर नहीं लौटे थे। लेकिन रविवार को किशवा का शव भटपुरा के पास व रघुवीर का शव नैठी के निकट बेतवा नदी में मिला है। इस मामले में सीओ राजेश कमल ने कहा कि प्रथमदृष्टया दोनों की मौत नदी में डूबने से प्रतीत होती है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही पता चल सकेगा।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...