Breaking News
Home / अपराध / बैंक ऑफ़ बड़ौदा से 45 लाख रुपए उड़ाने वाले चार जालसाज गिरफ्तार, खाताधारक का क्लोन चेक तैयार कर खाते से उड़ाते थे पैसे

बैंक ऑफ़ बड़ौदा से 45 लाख रुपए उड़ाने वाले चार जालसाज गिरफ्तार, खाताधारक का क्लोन चेक तैयार कर खाते से उड़ाते थे पैसे

खाताधारक का क्लोन चेक तैयार कर खाते से उड़ाते थे पैसे
अमेठी के बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा का बीसी एजेंट भी है शामिल
बैंक खाते से लिंक मोबाइल नंबर का करते थे स्वैब सिमकार्ड तैयार
खाताधारक का फर्जी आधार कार्ड बनाकर साजिश को देते थे अंजाम

भदोही (ईएमएस)। उत्तर प्रदेश की जनपद भदोही की पुलिस ने रविवार को चार ठगों को गिरफ्तार किया है। आरोपित ठगों ने क्लोन चेक तैयार कर बैंक खाते से 45 लाख रुपए उड़ा दिए थे। साइबर सेल और पुलिस की संयुक्त टीम ने सारे रुपए को बैंक से बरामद कर लिया है। पीड़ित की तरफ से इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। गिरफ्तार ठगों का सम्बन्ध अमेठी और सुल्तानपुर है।

इस तरह की घटना संज्ञान में आने के बाद भदोही पुलिस अधीक्षक डॉ अनिल कुमार ने इसके लिए साइबर सेल और पुलिस की संयुक्त टीम गठित किया था। पुलिस ने इस मामले में बड़ी सफलता हासिल की है। ऊंज से चार अंतर्जनपदीय लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके पास से तीन फर्जी चेक। तीन नकली आधार कार्ड इसके अलावा चार एटीएम और डेबिट कार्ड के साथ 6 मोबाइल भी बरामद किए हैं। जिनका उपयोग ठग बैंक खातों से पैसा उड़ाने में करते थे।

गिरोह सरगना के विरुद्ध जनपद अमेठी व प्रतापगढ़ में गैंगस्टर, गुंडा, लूट व अपहरण सहित गंभीर अपराधों के आधा दर्जन से अधिक अभियोग पंजीकृत हैं। जालसाजों के गिरोह में जनपद अमेठी के बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा का बीसी एजेंट भी शामिल है। गिरोह द्वारा फर्जी आधार कार्ड के माध्यम से बैंक खाते से लिंक मोबाइल नंबर का स्वैब सीम कार्ड तैयार किया गया था। बैंक प्रबंधक द्वारा वेरिफिकेशन कॉल के दौरान फर्जी तरीके से इनके द्वारा खुद को खाताधारक बता कर पैसा ट्रांसफर करने की अनुमति दी जाती थी। गिरोह के निशाने पर अधिक धनराशि वाले बैंक खाते थे। बरामद क्लोन चेक के माध्यम और घटनाओं को कारित करने के फिराक में थे। गिरोह में शामिल अन्य वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीमें रवाना की गई हैं।

गिरफ्तार जालसाजों ने पुलिस को बताया है कि हम लोगों का फर्जी चेक के माध्यम से दूसरों के बैंक खातों से पैसा ट्रांसफर कर लेने का संगठित गिरोह है। गिरोह में शामिल जनपद अमेठी के बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा के बीसी एजेंट द्वारा अधिक धनराशि वाले खातों की जानकारी की जाती है। हम लोग शिकायतकर्ता के बैंक ऑफ बड़ौदा बैंक खाता का फर्जी चेक तैयार करके कूट रचित हस्ताक्षर के माध्यम से पैसा ट्रांसफर हेतु बैंक में चेक जमा किए। खाताधारक के बैंक खाते में लिंक मोबाइल नंबर का फर्जी सिम कार्ड लेकर हम लोगों द्वारा वेरिफिकेशन काल के दौरान शाखा प्रबंधक को गुमराह करते हुए स्वयं को खाता धारक बताकर पैसा ट्रांसफर करने की अनुमति दी गई थी।

पुलिस ने जिन जालसाजों को गिरफ्तार किया है उनमें वीरेन्द्र बहादुर सिंह पुत्र रामनिहोर सिंह निवासी बड़गाँव थाना संग्रामपुर जनपद अमेठी। यह गिरोह का सरगना बताया गया है। दूसरा परमात्मादीन यादव पुत्र विश्वनाथ यादव निवासी वंशवनपट्टी। यह बैंक बैंक एजेंट है जिसके द्वारा खाताधारकों खाते में अधिक धनराज सोने की जानकारी दी जाती थी। तीसरा प्रदीप कुमार सिंह पुत्र शिव बख्स सिंह निवासी ग्राम राम नगर पूरेटिमसिंह थाना धनपतगंज सुल्तानपुर। जबकि चौथा सौरभ कुमार पाण्डेय पुत्र धर्मराज पाण्डेय निवासी नरहरपुर थाना कोतवाली देहात जनपद सुल्तानपुर शामिल है। भदोही पुलिस अधीक्षक ने इस बड़ी सफलता पर जालसा जून को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को ₹25000 पुरस्कार देने की घोषणा की है।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...