Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / बीएसए ने हमीरपुर में इन 67 विद्यालयों को जारी की नोटिस, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

बीएसए ने हमीरपुर में इन 67 विद्यालयों को जारी की नोटिस, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

-पोर्टल पर स्कूल, शिक्षक व छात्रों की प्रोफाइल अपूर्ण होने पर नाराज

हमीरपुर  (हि.स.)। जिले के 67 विद्यालय पोर्टल पर स्कूल, शिक्षक व छात्रों की प्रोफाइल भरने में आनाकानी कर रहे हैं। वहीं अन्य विद्यालयों में मात्र 86 प्रतिशत कार्य ही पूर्ण हो सका है। फीड किया गया डाटा भी त्रुटिपूर्ण है। ऐसे विद्यालयों को बीएसए ने गुरुवार को नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह में कार्य पूरा नहीं करने पर संबंधित शिक्षकों का वेतन रोकने को कहा है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी कल्पना जायसवाल ने गुरुवार को बताया कि 13 जून को की गई समीक्षा में 67 विद्यालय ऐसे मिले जिन्होंने एक भी छात्र का डाटा पोर्टल पर नहीं भरा है। इनमें से 14 मदरसा, छह परिषदीय, एक केजीबीवी तथा 46 मान्यता प्राप्त विद्यालय हैं। इन्हें चेतावनी दी गयी है कि एक सप्ताह में त्रुटिरहित डाटा न भरने पर बिना किसी सूचना के वेतन रोक दिया जाएगा।

जो मान्यता प्राप्त स्कूल व मदरसा हैं, उनकी मान्यता समाप्ति, जुर्माना तथा मुकदमा दर्ज करने के शासन के निर्देशों का पालन किया जाएगा। कई विद्यालयों में मात्र 86 प्रतिशत कार्य ही पूर्ण हो सका है। वहीं फीड किया गया डाटा भी त्रुटिपूर्ण है। यू-डायस पोर्टल पर ऑनलाइन स्कूल प्रोफाइल, शिक्षक प्रोफाइल तथा छात्र प्रोफाइल का डाटा भरा जाना है।

उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्रों में बाल वाटिका, अग्निशमन यंत्र, संकुल शिक्षकों का विद्यालय भ्रमण, सीसीई लागू न होना, परिषदीय विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन न बनाया जाना तथा पीएफएमएस में पंजीकरण न होना, एसएमसी का गठन, शौचालय विहीन तथा पेयजल विहीन कक्षा, कक्ष विहीन, शिक्षक विहीन विद्यालयों का जिक्र न होना आदि अन्य प्रकरण रिपोर्ट सेक्शन में आ रहे हैं। बीएसए ने जारी पत्र में संबंधित शिक्षक, शिक्षक संकुलों, ब्लाक एमआईएस क्वार्डिनेटर व कम्प्यूटर आपरेटर तथा खंडशिक्षा अधिकारी के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई किए जाने की नोटिस दी है।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...