Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत उप्र में बन रहे 19 डिग्री कॉलेज

प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत उप्र में बन रहे 19 डिग्री कॉलेज

– मुख्य सचिव ने की निर्माणाधीन डिग्री कॉलेजों की प्रगति की समीक्षा

लखनऊ (हि.स.)। प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम (पीएमजेवीके) के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश में 19 डिग्री कॉलेजों का निर्माण कार्य चल रहा है। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने शुक्रवार को निर्माणाधीन डिग्री कॉलेजों की प्रगति की समीक्षा की।

समीक्षा बैठक में स्वार टांडा (जनपद रामपुर) और नजीबाबाद (जनपद बिजनौर) में प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत निर्माणाधीन डिग्री कॉलेज को संचालन के लिए उच्च शिक्षा विभाग को हस्तांतरित करने की संस्तुति प्रदान की गई।

बैठक में बताया गया कि प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत 19 डिग्री कॉलेज का निर्माण कार्य प्रगति पर है। एक डिग्री कॉलेज का निर्माण कार्य 75-90 प्रतिशत, 7 डिग्री कॉलेज का कार्य 50-75 प्रतिशत, 10 डिग्री कॉलेज का कार्य 25-50 प्रतिशत के मध्य में है तथा अवशेष 01 के कार्य की प्रगति 25 प्रतिशत है। इन 19 डिग्री कॉलेज को निर्माण कार्य पूर्ण होने के उपरान्त उच्च शिक्षा विभाग द्वारा टेकओवर कर संचालित करने की सहमति प्रदान की जा चुकी है।

ये डिग्री कॉलेज लहरपुर (सीतापुर), हरड़ फतेहपुर (शामली), एत्माद सरायं (बुलन्दशहर), राजपुर (गाज़ियाबाद), जानी खुर्द (मेरठ), पटना खास (संत कबीर नगर), उन्नाव, फूलपुर (आजमगढ़), घुघुलपुर (बलरामपुर), एत्यिबाद मेहंदीपुर (गौतमबुद्धनगर), मेहरौली (मेरठ), बाली (मेरठ), संडवा चंदिका पूरबगांव (प्रतापगढ़), राजपुर छजपुर (मुजफ्फरनगर), ऊन के ओदरी (शामली), गाबी महुवां (प्रतापगढ़), धरौती खुर्द, लोनी (गाज़ियाबाद), बरेली व दनकौर (गौतमबुद्ध नगर) में बनाये जा रहे हैं। इनके लिए 16258.80 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार की योजना प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने व प्रदेश के अन्य हिस्सों के समान इनके क्षेत्रों में असंतुलन कम करने के लिए बुनियादी ढांचे का निर्माण कराया जाता है।

समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव अल्पसंख्यक कल्याण मोनिका एस गर्ग, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा एमपी अग्रवाल, निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण जे रीभा समेत अन्य संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...