Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा के कारण 25 के बजाय 18 जून को ही होगी ‘मन की बात’, जानें पूरा कार्यक्रम

प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा के कारण 25 के बजाय 18 जून को ही होगी ‘मन की बात’, जानें पूरा कार्यक्रम

-27 जून को होने वाले प्रधानमंत्री मोदी के वर्चुअल उद्बोधन की तैयारियों में जुटी भाजपा

वाराणसी (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम में इस बार बदलाव किया गया है। यह कार्यक्रम माह के अंतिम रविवार (25 जून) के बजाय 18 जून को होगा। इस कार्यक्रम में बदलाव प्रधानमंत्री के विदेश यात्रा की वजह से किया गया है।

केन्द्र की मोदी सरकार के सफलतम नौ वर्ष पूर्ण होने पर भाजपा संगठन द्वारा चलाए जा रहे महासम्पर्क अभियान के तहत लोकसभा स्तर पर होने वाली जनसभाओं की तैयारियां चल रही हैं। आगामी 27 जून को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कार्यकर्ताओं को वर्चुअल सम्बोधित करेंगे। जिसकी तैयारियों को लेकर बुधवार को पार्टी के गुलाबबाग सिगरा कार्यालय में महानगर के पदाधिकारियों की मैराथन बैठक हुई।

बैठक में क्षेत्रीय अध्यक्ष दिलीप सिंह पटेल ने बताया कि प्रत्येक माह के अंतिम रविवार को आयोजित होने वाले प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम की तिथि में इस बार बदलाव हुआ है। अब यह कार्यक्रम इस माह 18 जून को होगा, जिसे पार्टी कार्यकर्ता पूर्व की भांति बूथ स्तर पर सुनेंगे। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के विदेश यात्रा के कारण इस माह तिथि में परिवर्तन किया गया है।

पटेल ने कहा कि काशी क्षेत्र की 14 लोकसभाओं में कुल 14 जनसभाएं होंगी। वाराणसी लोकसभा की सभा अपने आप में अत्यंत महत्वपूर्ण है। कारण कि यहां के सांसद स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। उन्होंने कहा कि 27 जून को प्रधानमंत्री मोदी वर्चुअल उद्बोधन के माध्यम से पूरे देश के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे, जिसे प्रत्येक मंडल में बड़ी एलईडी स्क्रीन पर देखा व सुना जाएगा। इसके लिए आवश्यक है कि सभी मंडल अध्यक्ष अपने अपने मंडल अंतर्गत कम से कम 2500 क्षमता वाले बड़े स्थान का चयन करें।

इसके पूर्व आगामी 20 जून को वाराणसी लोकसभा के पांच विधानसभाओं में जनसभा होगी। जिसमें वाराणसी दक्षिणी, उत्तरी, कैंट, रोहनिया एवं सेवापुरी के कार्यकर्ताओं के साथ आमलोगों के भागीदारी पर जोर दिया जा रहा है।

बैठक की अध्यक्षता महानगर अध्यक्ष विधासागर राय, संचालन अशोक पटेल तथा धन्यवाद ज्ञापन आलोक श्रीवास्तव ने किया।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...