Breaking News
Home / अपराध / गेमिंग ऐप के जरिए धर्मांतरणः गाजियाबाद पुलिस को मिला 15 जून तक का शाहनवाज बद्दो का ट्रांजिट रिमांड, जानें अब तक क्या-क्या हुआ…

गेमिंग ऐप के जरिए धर्मांतरणः गाजियाबाद पुलिस को मिला 15 जून तक का शाहनवाज बद्दो का ट्रांजिट रिमांड, जानें अब तक क्या-क्या हुआ…

गाजियाबाद  (हि.स.)। मुंबई से रविवार को गिरफ्तार किए गए ऑनलाइन गेमिंग ऐप के जरिए धर्मांतरण के मामले के मुख्य आरोपित शाहनवाज मकसूद उर्फ बद्दो को गाजियाबाद पुलिस ने ट्रांजिट रिमांड पर लेने में सफलता प्राप्त की है। अब उसे महाराष्ट्र के ठाणे से गाजियाबाद लाया जा रहा है। 23 वर्षीय बद्दो का ट्रांजिट रिमांड 15 जून तक ठाणे के कोर्ट ने स्वीकृत किया है। गाजियाबाद पुलिस धर्मांतरण के मामले में उससे गहन पूछताछ करेगी। पुलिस को उम्मीद है की बद्दो से पूछताछ के बाद निश्चित तौर पर ऑनलाइन गेमिंग ऐप के जरिए नाबालिगों का धर्मपरिवर्तन कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश होगा और पुलिस इस गिरोह में शामिल अन्य लोगों तक पहुंचेगी।

पुलिस उपायुक्त (सिटी) निपुण अग्रवाल ने सोमवार को बताया कि शहनवाज उर्फ मकसूद उर्फ बद्दो की गिरफ्तारी के लिए गाजियाबाद पुलिस की टीम महाराष्ट्र पहुंची हुई थी। रविवार को महाराष्ट्र पुलिस के सहयोग से उसे गिरफ्तार किया गया था। आज बद्दो को ठाणे के एक कोर्ट में पेश किया। गाजियाबाद पुलिस ने उसे 15 जून तक का ट्रांजिट रिमांड के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की। कोर्ट ने बद्दो का ट्रांजिट रिमांड स्वीकृत करते हुए गाजियाबाद पुलिस को सौंपने के आदेश दिए। उन्होंने बताया कि उसे अब गाजियाबाद लाया जा रहा है। जहां उससे विस्तृत पूछताछ की जाएगी।

दूसरी ओर धर्मांतरण के मास्टरमाइंड शाहनवाज मकसूद उर्फ बद्दो से पूछताछ करने के लिए पुलिस ने पूरा होम वर्क कर रखा है। पुलिस सूत्र बताते हैं कि बद्दो से पूछने के लिए सवालों की फेहरिस्त तैयार कर रखी है। पुलिस अधिकारियों का मानना है कि मामले की कड़ियों को जोड़ने के लिए बद्दो से गहन पूछताछ की जाएगी। इसके अलावा बद्दो से आतंकवाद निरोधी दस्ता (एटीएस), इंटेलिजेंस ब्यूरो और अन्य सुरक्षा एजेंसियां भी पूछताछ करेंगी।

पुलिस की चुनौती उसका लैपटाप हासिल करने की भी है। यह अभी नहीं मिला है। इसी से पता चलेगा कि उसके जाल में अब तक कितने किशोर फंसे और वह कब से धर्मांतरण करा रहा है। वह 12वीं पास है लेकिन कंप्यूटर का महारथी है। उसे ऑनलाइन गेम के बारे में भी काफी जानकारी है।

पूरे मामले पर एक नजर-

30 मई : धर्मांतरण मामले का खुलासा, रिपोर्ट दर्ज

31 मई : गाजियाबाद पुलिस की टीम मुंबई पहुंची

04 जून : संजयनगर सेक्टर-23 स्थित मस्जिद कमेटी का पूर्व पदाधिकारी अब्दुल रहमान गिरफ्तार

07 जून : राष्ट्रीय बाल अधिकार एवं संरक्षण आयोग ने गेमिंग ऐप की जांच करने के लिए कहा

12 जून को 15 जून तक के लिए बद्दो का ट्रांज़िट रिमांड मिला।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...