Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / गर्मी दिखा रही तेवर, हीट स्ट्रोक का खतरा बढ़ा, इन चीजों का रखें ध्यान; जानें लक्षण

गर्मी दिखा रही तेवर, हीट स्ट्रोक का खतरा बढ़ा, इन चीजों का रखें ध्यान; जानें लक्षण

मरीजों की संख्या बढ़ी, अस्पताल में अतिरिक्त बेड लगाए गए

हमीरपुर (हि.स.)। कुछ दिनों की राहत के बाद सोमवार को एक बार फिर तापमान में बढ़ोत्तरी हुई है। इससे हीट स्ट्रोक का खतरा बढ़ने की संभावना बढ़ गई है। अधिकतम तापमान में बढ़ोत्तरी हो रही है, जिससे लोग बेचैन हैं।

अस्पताल में मरीजों की लाइनें भी लंबी हो गई है। गरम हवाओं के बहने और तीखी धूप से स्थिति और खराब हो गई। मरीजों की संख्या बढ़ती देख जिला अस्पताल के भर्ती वार्ड के हॉल में अतिरिक्त बेड लगाए गए हैं। कई दिनों से मौसम का मिला-जुला असर था। दिन की धूप पर बादलों की मार थी। शाम होते-होते आंधी और बारिश की वजह से लोगों को राहत महसूस हो रही थी, लेकिन दो दिनों से एकदम से मौसम का मिजाज बदल गया।

सोमवार को सबेरे से तीखी धूप से लोगों का सामना हुआ। सारा दिन गरम हवाओं के थपेड़ों ने लोगों को बेचैन कर दिया। दिन में मुख्यालय के भीड़भाड़ वाले स्थान बस स्टैण्ड, किंग रोड, सुभाष बाजार, आकिल तिराहा आदि में सन्नाटा पसरा रहा। दुकानदार भी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। सोमवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस के पार हो गया। इससे लोगों को बेचैनी महसूस हुई। दिन में लोग घरों में दुबके रहे। जरूरी काम होने पर ही घरों से बाहर निकले।

जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ.विनय प्रकाश ने बताया कि मौसम को देखते हुए मरीजों की संख्या बढ़ी है। भर्ती वार्ड के फुल होने के बाद अस्पताल के हॉल में अतिरिक्त बेड लगाए गए हैं। मौसम की वजह से बीमार होने वालों के उपचार के सभी इंतजाम हैं। पर्याप्त मात्रा में जीवन रक्षक दवाएं उपलब्ध हैं।

बाल रोग विशेषज्ञ डॉ.आशुतोष निरंजन ने बताया कि गर्मी बढ़ने की वजह से पांच साल से कम उम्र के बच्चों में डायरिया के मामले बढ़ रहे हैं। दो दिन की ओपीडी में प्रतिदिन 10 से 20 ऐसे बाल रोगी मिले हैं जो डायरिया से ग्रसित थे। कुछ की हालत गंभीर मिली, जिन्हें भर्ती करके उपचारित किया गया।

इन चीजों का रखें ध्यान

खानपान में एहतियात बरतें। सूरज के सीधे संपर्क में आने से बचें। बहुत जरूरी होने पर ही घरों से निकलें। ताजा खाना खाएं और पानी अवश्य पीते रहें। पांच साल से कम उम्र के बच्चों के खानपान में ज्यादा सावधानी बरतें। बच्चों की साफ-सफाई का ध्यान रखें। पानी को उबालकर ठंडा कर लें, वही बच्चों को पिलाएं।

हीट स्ट्रोक के लक्षण

तेज बुखार आना,

ज्यादा पसीना आना, चिड़चिड़ापन,मुंह सूखना,

जी मिचलना,सिर दर्द,

बेहोश हो जाना,घबराहट होना

इन लक्षणों से बचाव

लू से बचने के लिए हल्की सूती कपड़े पहनें, सिर को भी सूती कपड़े से ढककर घर से निकलें, हरी सब्जी, ताजे फल और जूस का सेवन ज्यादा करें। दिन के 12 बजे से लेकर तीन बजे तक सूरज के सीधे संपर्क में आने से बचें।

Check Also

बाराबंकी : संदिग्ध परिस्थितियों में बालिका की मौत, कहीं हत्या तो नहीं

देवा थाना क्षेत्र के मोहल्ला कचेहरान में 12 वर्षीय बालिका का शव छत में लगे ...