Breaking News
Home / अपराध / कन्नौज में बीए की छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा

कन्नौज में बीए की छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा

“बेटी पढ़ना चाहती थी, पुलिस अफसर बनना चाहती थी, लेकिन वो लड़का परेशान करता था। उसे बदनाम करना चाहता था। बेटी पर मिलने और बात करने का दबाव बनाता था। बेटी की सगाई के बाद से तो वह पागल हो गया था। घर पर आकर तमाशा करता था। उसने मौका देखकर बेटी को उठा लिया। दोस्तों के साथ मिलकर रेप किया और फिर हत्या कर दी। मेरी बेटी के आरोपियों को फांसी की सजा दो।”

ये बातें उसी छात्रा की मां ने कही, जिसका शनिवार को घर से 300 मीटर दूर नहर में शव मिला था। वहीं, छात्रा की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है। जिसमें सामने आया है कि गैंगरेप के बाद छात्रा की हत्या की गई है। छात्रा के साथ तीन से ज्यादा लोगों ने गैंगरेप किया है।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत दम घुटने से हुई

छात्रा की मौत दम घुटने से हुई है। उसके चेहरे और गले पर चोट के निशान भी मिले हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, छात्रा के चेहरे और गले पर चोट के निशान मिले हैं। उसके पेट और पीठ पर खरोंच के निशान हैं। छात्रा का प्राइवेट पार्ट भी डैमेज है। उसके शरीर से काफी खून निकला है। छात्रा की मौत दम घुटने से हुई है। छात्रा के फेस पर उंगली के निशान बने हुए हैं। जिसको देखकर ऐसा लगता है कि उसके मुंह को बहुत तेज दबाया गया है।

इस घटना के बाद पुलिस ने मां के आरोपों के आधार पर गांव के 3 युवकों को हिरासत में लिया है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। घटना कन्नौज के ठठिया थाने की सुरसी चौकी क्षेत्र के एक गांव की है।

 क्या है पूरा मामला…

शनिवार सुबह मिला था छात्रा का शव
कन्नौज में एक बीए की छात्रा का झाड़ियों के बीच में बम्बे के पानी में उल्टा पड़ा हुआ शव शनिवार को मिला था। छात्रा के कपड़े अस्त-वस्त थे। उसके चेहरे और गले पर चोट के निशान थे। छात्रा स्कूल यूनिफॉर्म (सलवार-सूट) में थी। उसकी सलवार घुटनों तक उतरी हुई थी। छात्रा शुक्रवार दोपहर में कॉलेज से अपने घर लौटते समय लापता हो गई थी।

“छोटी बेटी की शादी की तैयारी घर में चल रही थी”

छात्रा पुलिस अफसर बनना चाहती थी। वो इसके लिए तैयारी भी कर रही थी।

बेटी का शव मिलने के बाद परिवार के लोगों ने बताया था, “उनकी बेटी की उम्र 18 साल थी। उसकी सगाई हो चुकी थी। घर में उसकी 3 बहनों की शादी पहले ही कर दी थी। अब घर में उसकी शादी की तैयारी चल रही थी।

शादी की बात को लेकर गांव के कुछ युवक उसको परेशान करते थे। उसको फोन पर धमकी देते थे। वो लोग मेरी बेटी के साथ हमेशा से गलत काम करना चाहते थे। वो लोग नहीं चाह रहे थे कि बेटी की शादी हो और आखिरी में उन लोगों ने वैसा ही कर दिया। मेरी प्यारी बेटी की जान ले ली।”

“मेरी बहन पुलिस का एग्जाम देकर घर लौट रही थी”

छात्रा के भाई ने बताया, “मैं दिल्ली में नौकरी करता हूं। घर पर मां मजदूरी करती है। हम दोनों की कमाई से ही घर चलता है। अभी बकरीद में घर आया था तो मां ने शादी की तैयारी करने की बात कहकर रोक लिया था। मेरी बहन बीए के साथ पुलिस की नौकरी की भी तैयारी कर रही थी। जिस दिन उसके साथ ये घटना हुई है, उस दिन भी वो पुलिस का ही एग्जाम देकर घर लौट रही थी।”
 
“बहुत मुश्किल से बहन की शादी तय कर पाए थे”

भाई ने बताया, “गांव के 3 लड़के मेरी बहन को बहुत परेशान करते थे। मेरे अब्बू की मौत हो चुकी है। घर पर कोई आदमी नहीं रहता है। इस बात का फायदा वो लोग उठाते थे। चलते-फिरते वो लोग बहन से अश्लील इशारे करते थे। उनके घर पर हम लोगों ने शिकायत की तो उन लोगों ने अपने लड़कों का ही पक्ष लिया। इन लोगों से बचकर बहुत मुश्किल से बहन की शादी तय कर पाए थे।”

“बदनामी होने की बात कहकर हमें रोक दिया था”
भाई ने कहा, “1 साल पहले की बात है…मेरी बहन के साथ इन लोगों ने छेड़छाड़ की थी। तब हम लोग पुलिस से शिकायत करने जाने वाले थे। लेकिन मोहल्ले के लोगों ने हमें रोक दिया था। उन लोगों ने कहा था, बेकार में बेटी की बदनामी होगी। तुम लोग आपस में बैठकर बात कर लो। उन लोगों ने उन लड़कों को भी डांटा था। दोबारा ऐसी हरकत नहीं करने के लिए कहा था। तब कुछ दिन वो लोग शांत रहे थे, लेकिन फिर से उन लोगों ने दीदी को परेशान करना शुरू कर दिया था।”

“एक रिंग गई फिर फोन स्विच ऑफ हो गया था”

बेटी का शव मिलने के बाद छात्रा की मां ने बताया था, “उनकी बेटी शुक्रवार सुबह को पेपर देने कॉलेज गई थी। दोपहर तक जब वो वापस नहीं लौटी तो हम लोगों ने पहले उसको फोन किया। पहले तो एक रिंग गई फिर फोन स्विच ऑफ हो गया था। जिसके बाद हम लोग डर गए। हम लोगों ने बेटी की दोस्त से उसके बारे में जानकारी ली। बेटी की दोस्त ने हमें बताया था, वो उसके साथ में गांव तक आई थी।

इसके बाद बेटी आम लेने लगी थी और उसकी सहेली घर चली गई। इसके बाद अनहोनी से घबराते हुए हमने सब जगह बेटी को ढूंढा, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। पुलिस से मामले की शिकायत की तो उन्होंने सुबह आने के लिए बोल दिया। लेकिन सुबह तो हमारी बेटी की लाश हमें मिली।”

जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा- सीओ

मामले में सीओ शिव प्रताप सिंह ने बताया, “मृतक छात्रा की शादी उसके परिजनों ने इटावा के एक गांव में तय कर दी थी। ढाई महीने पहले उसकी सगाई भी हुई थी। निकाह की तारीख तय होनी थी, लेकिन उससे पहले ही उसकी हत्या कर दी गई है। 3 लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है। जल्द ही मामले का खुलासा करके आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...