Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / इटावा सफारी में शेरों के कुनबा बढ़ा, बब्बर शेरनी ने एक और शावक को दिया जन्म

इटावा सफारी में शेरों के कुनबा बढ़ा, बब्बर शेरनी ने एक और शावक को दिया जन्म

इटावा (हि.स.)। इटावा सफारी पार्क में शेरों के कुनबे में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। यहां बब्बर शेरनी सोना ने एक शावक को जन्म दिया है। शावक के जन्म के बाद सफारी प्रशासन में खुशी की लहर है।

इटावा सफारी पार्क की निदेशक दीक्षा भंडारी ने बताया कि सफारी पार्क में मौजूद बब्बर शेरनी सोना ने छह जुलाई को शावक को जन्म दिया है। बब्बर शेरनी सोना की मीटिंग गुजरात से आए शेर कान्हा से 24 मार्च 2023 को हुई थी। उन्होंने बताया कि शेरनी सोना व नवजात शावक दोनों पूरी तरह से स्वस्थ हैं। सफारी पार्क में इससे पूर्व जेसिका द्वारा 2016 में दो नर शावक सिंबा और सुल्तान, वर्ष 2018 में एक नर शावक बाहुबली, वर्ष 2019 में दो मादा और एक नर भारत, रूपा, सोना और वर्ष 2020 में दो मादा शावक गार्गी और नीरजा को जन्म दिया था। इसके अतिरिक्त सफारी पार्क में शेरनी जेनिफर ने 2020 में एक नर शावक केसरी, अगस्त 2022 में एक नर शावक विश्वा को जन्म दिया था।

निदेशक दीक्षा ने बताया कि सफारी पार्क में अब तक कुल 11 शावक जन्मे हैं। नवजात शावक व बब्बर शेरनी सोना की देखभाल पशु चिकित्सकों की टीम के द्वारा की जा रही है। सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से बब्बर शेरनी सोना और नवजात शावक के स्वास्थ्य और व्यवहार पर सतत निगरानी रखी जा रही है। सफारी पार्क में नवजात शावक के जन्म लेने से बब्बर शेरों की संख्या 18 हो गई है।

गुजरात के बाद यूपी के सफारी पार्क में है बब्बर शेरों का प्रजनन केन्द्र

निदेशक दीक्षा भंडारी ने बताया कि गुजरात के अतिरिक्त एशियाई बब्बर शेर का एकमात्र प्रजनन केंद्र इटावा सफारी पार्क है जहां पर इनका प्रजनन प्राकृतिक परिवेश में संपन्न हो रहा है। प्रजनन हेतु जोड़े बनाने से पूर्व इनका अनुवांशिक विश्लेषण यहां के बायोलॉजिस्ट पशु चिकित्सक तथा उच्चाधिकारियों के द्वारा किया जाता है जिससे इनकी आनुवंशिक गुणवत्ता बरकरार बनी रहती है।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...