Breaking News
Home / अपराध / अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने के चलते हुई थी जितेंद्र की हत्या, तीन गिरफ्तार

अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने के चलते हुई थी जितेंद्र की हत्या, तीन गिरफ्तार

– फरवरी में रक्सा से दिल्ली और मध्य प्रदेश के बीच बनी हत्या की योजना

झांसी  (हि.स.)। बड़ागांव थाना क्षेत्र में रहने वाले जितेंद्र प्रजापति का फरवरी माह में पहले लापता हो जाना और बाद में मध्य प्रदेश से शव बरामद होने का मंगलवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया है। खुलासे में सामने आया कि जितेंद्र ने संकेत के अश्लील वीडियो बना लिए थे। साथ ही उसकी रिश्ते की एक बहन से नाजायज संबंध कायम करना हत्या की वजह बना। फिलहाल पुलिस ने मामले में तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

पुलिस अधीक्षक(शहर) ज्ञानेन्द्र कुमार ने खुलासा करते हुए बताया कि गांधीग्राम निवासी तीरथ प्रसाद प्रजापति ने अपने पुत्र जितेन्द्र प्रजापति के घर से चले जाने व वापस नहीं आने के सम्बन्ध में थाना बड़ागांव पर गुमशुदगी दर्ज करायी थी। गुमशुदा जितेन्द्र प्रजापति का नौ फरवरी को मध्य प्रदेश के जनपद ग्वालियर स्थित ग्राम संतोल गांव के पास की नहर में शव बरामद हुआ। पुलिस ने परिवार की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

विवेचना में पुनावली राेड निवासी संकेत उर्फ साकेत साहू, मध्य प्रदेश निवासी आशीष साहू, मोहित साहू का नाम प्रकाश में आया। पुलिस ने तीनों को विभिन्न स्थानों से गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में पता चला है कि जितेन्द्र प्रजापति की रिश्तेदारी पुनावली रोड थाना रक्सा में थी। जिसके कारण वह वहां आता जाता रहता था। इसी दौरान उसकी दोस्ती संकेत से थी। आठ माह पहले जितेन्द्र ने साकेत का अंतरंग वीडियो चोरी से बना लिया गया था। उसे डिलीट करने की एवज में समय-समय पर संकेत रुपयों की मांग करता था। ब्लैकमेल करके वह संकेत से लगभग 70 से 80 हजार रुपये ले चुका था। वीडियो भी डिलीट नहीं किया था। इसी बात से क्षुब्ध होकर संकेत ने अपने मित्र आशीष साहू और मोहित साहू के साथ मिलकर जितेन्द्र की हत्या की योजना बना डाली।

पांच फरवरी को संकेत जितेन्द्र को अपने साथ पूजापाठ कराने की बात कहकर उसे दतिया ले गया। वहां आशीष व मोहित भी मिले। मौका पाकर नशीला जूस पिला जितेन्द्र को पिला दिया। जब वह गहरी नींद में हो गया तो तीनों ने चलती गाड़ी में नाक व मुंह दबाकर जितेन्द्र की हत्या कर दी। शव को नहर में फेंक कर फरार हो गए। पुलिस ने जितेन्द्र की हत्या का खुलासा करते हुए तीनों अभियुक्तों को जेल भेज दिया है।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...