Breaking News
Home / अपराध / अपनी संतान की चाह में पिता ने सौतेले बेटे को मौत के घाट उतारा, तीन दिन बाद इस हालत में मिला शव

अपनी संतान की चाह में पिता ने सौतेले बेटे को मौत के घाट उतारा, तीन दिन बाद इस हालत में मिला शव

इटावा,  (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के इटावा जनपद में इकदिल पुलिस ने अपने सौतेले बेटे की हत्या कर शव को कुएं में फेंकने के आरोप में पिता को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक हत्या कर फेंकने के बाद पुलिस को गुमराह करने के लिए आरोपित ने बेटे के लापता होने की शिकायत थाने में दर्ज करवाई थी। गुमशुदगी दर्ज करने के तीन दिन बाद पुलिस को गांव से ही एक कुएं में नाबालिग का शव बरामद हुआ था।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजय कुमार वर्मा ने बताया कि थाना इकदिल क्षेत्र के अंतर्गत नगला मोती गांव में बीते 19 जून को अवधेश कुमार ने अपने नौ वर्षीय पुत्र सागर के लापता होने की गुमशुदगी थाना में दर्ज करवाई थी। जिसके तीन दिन बाद बुधवार को गांव में ही एक कुएं से मासूम का शव बरामद हुआ था। प्रथम दृष्टया पुलिस को यह हत्या प्रतीत हो रही थी। इसी विवेचना के क्रम में पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद विधिक कार्यवाही और मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी थी।

पुलिस की जांच के दौरान यह तथ्य सामने आया कि मृतक नाबालिग सागर के पिता अवधेश की पत्नी सोनी ने अवधेश से दूसरी शादी की थी और मृतक सोनी के पहले पति की संतान थी। अवधेश से शादी करने के बाद अवधेश सोनी से अपने द्वारा पैदा की हुई संतान चाहता था इसको लेकर अवधेश और सोनी के बीच काफी तकरार बनी रहती थी। इसी शक के आधार पर पुलिस ने अवधेश को हिरासत में लेकर गहन से पूछताछ करना शुरू की तो पुलिस की पूछताछ में अवधेश ने अपने सौतेले बेटे सागर की हत्या कर शव को कुएं में फेंकने का जुर्म स्वीकार किया।

पुलिस पूछताछ में अवधेश ने बताया कि उसकी पत्नी सोनी ने पहले पति को छोड़कर उससे दूसरी शादी की थी और मृतक सागर पहले पति से उत्पन्न संतान थी। वह सोनी से अपनी संतान पैदा करना चाह रहा था परंतु पत्नी सोनी बार बार अपने बच्चे सागर का हवाला देकर तैयार नहीं हो रही थी और शारीरिक संबंध बनाने से भी इंकार कर देती थी। इसी बात से परेशान होकर अवधेश ने योजना बनाई कि यदि वह अपने सौतेले बेटे सागर को रास्ते से हटा दे तो पत्नी सोनी उससे संतान पैदा करने के लिए तैयार हो जाएगी। पुलिस की पूछताछ में अवधेश ने बताया कि उसकी पत्नी सोनी 17 जून को अपने मायके चली गई तो अगले दिन 18 जून को करीब 10:00 बजे मौका पाकर चारा काटने के बहाने सागर को अपने साथ लेकर गांव के बाहर कुछ दूरी पर खेत में बने कुएं के पास ले गया और मौका पाकर सागर को कुएं में धक्का दे दिया, डूबने के बाद वह चला आया और 19 तारीख को उसने थाना इकदिल में सागर की गुमशुदगी दर्ज करा दी। एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने मृतक सागर के सौतेले पिता अवधेश कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Check Also

बाराबंकी : संदिग्ध परिस्थितियों में बालिका की मौत, कहीं हत्या तो नहीं

देवा थाना क्षेत्र के मोहल्ला कचेहरान में 12 वर्षीय बालिका का शव छत में लगे ...