Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / अग्निवीर योजना के तहत उप्र में 20 जुलाई से 16 जनवरी तक होगी सेना भर्ती रैली

अग्निवीर योजना के तहत उप्र में 20 जुलाई से 16 जनवरी तक होगी सेना भर्ती रैली

-फतेहगढ़, बड़ौत, लखनऊ, आगरा, अमेठी एवं गोरखपुर में होगी सेना भर्ती रैली

-मुख्य सचिव ने रैली की तैयारियों के संबंध में बैठक कर दिए आवश्यक दिशा निर्देश

लखनऊ,  (हि.स.)। उत्तर प्रदेश में 20 जुलाई, 2023 से 16 जनवरी, 2024 तक छह स्थानों-फतेहगढ, बड़ौत, लखनऊ, आगरा, अमेठी एवं गोरखपुर में अग्निवीर योजना के अन्तर्गत सेना भर्ती रैली आयोजित होगी। सेना भर्ती रैली की तैयारियों के संबंध में प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने शुक्रवार को एक बैठक की और संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

बैठक में मुख्य सचिव ने कहा कि सेना भर्ती रैली में आने वाले युवाओं को किसी भी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए समय से सभी तैयारियां पूरी कर ली जायें। उन्होंने कहा कि भर्ती रैली के दौरान कांवड़ यात्रा भी प्रारम्भ हो रही है। अतः भर्ती रैली से सम्बन्धित जनपदों में कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ किया जाये, जिससे कावड़ यात्रा और भर्ती रैली सकुशल संपन्न हो सके। साथ ही मानसून सीजन के कारण भर्ती स्थलों में जल भराव होने की सम्भावना बनी रहेगी, इसके लिए पानी निकालने के लिए पंप की उचित व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए।

मुख्य सचिव ने कहा कि भर्ती स्थलों में रहने-खाने, शेल्टर आदि के साथ ही बिजली, पानी, सफाई एवं टायलेट्स की उचित व्यवस्था की जाए। भर्ती स्थलों में एम्बुलेंस, चिकित्सा सुविधाओं आदि की समुचित व्यवस्था रहे। युवाओं को भर्ती स्थलों तक आने-जाने में असुविधा न हो इसके लिए परिवहन विभाग द्वारा बसों की व्यवस्था की जाए। रैली के दिन जिला अस्पताल एवं जनपद के अन्य अस्पतालों को पूरी तरह अलर्ट पर रखा जाए। भर्ती केन्द्र पर आने वाले अभ्यर्थियों का पंजीकरण कराया जाये कि किस जनपद से कितने अभ्यर्थी भर्ती केन्द्र पर शामिल होंगे।

उन्होंने कहा कि संबंधित जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी स्तर के एक अधिकारी को नोडल अधिकारी तथा इसी तरह पुलिस अधीक्षक अपने स्तर से अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित करें। सेना की तरफ से भी भर्ती वाले जनपदों हेतु एक-एक नोडल अधिकारी नामित करते हुए उनका नाम, पदनाम एवं मोबाइल नम्बर संबंधित जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षकों को उपलब्ध करा दिये जायें।

बैठक में अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन जितेन्द्र कुमार, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य पार्थ सारथी सेन शर्मा, मेजर जनरल मनोज तिवारी समेत सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...